महाराष्ट्र में Coronavirus से हाहाकार, मुख्यमंत्री ने बुलाई बैठक

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की नई लहर के दौरान रोज सामने आते रिकॉर्डतोड़ केस के बीच हालात बिगड़ रहे हैं। दवाओं-बेड-ऑक्सीजन-वैक्सीन की कमी की कई रिपोर्टें सामने आने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आ एक बैठक बुलाई है।

मुंबई। देश में कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में सरकार हालात को काबू में करने के लिए तमाम कोशिशें करने में जुटी है। प्रदेश में पिछले कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस के मामलों में आ रहे उछाल को देखते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बृहन्मुंबई नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में कोविड-19 स्थिति का आकलन करने के लिए शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक बैठक की अध्यक्षता करने वाले हैं। इस दौरान मुख्यमंतत्री उद्धव ठाकरे से यह भी उम्मीद की जा रही है कि वे बीएमसी की प्री-मॉनसून की तैयारियों के बारे में भी अपडेट लेंगे।

जरूर पढ़ें: 2015 में दी थी कोरोना महामारी की चेतावनी और अब बिल गेट्स ने की दो भविष्यवाणी

दरअसल, कोविड-19 के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र फिलहाल एक ठहराव जैसे हालात पर पहुंच गया है क्योंकि राज्य सरकार ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कई 'लॉकडाउन' जैसे कई प्रतिबंध लागू किए हैं। इन प्रतिबंधों में सख्त रात का कर्फ्यू, सप्ताहांत में लॉकडाउन और राज्य भर में अनावश्यक आने-जाने पर प्रतिबंध भी शामिल है।

इस बीच राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार महाराष्ट्र में 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 61,695 नए मामले सामने आए जबकि 349 लोगों की मौत हो गई।

वहीं, राज्य में अब तक सामने आए कुल पॉजिटिव केस की संख्या बढ़कर 36,39,855 पहुंच गई है, जिसमें 29,59,056 लोग रिकवर हो चुके हैं और 59,153 की मौत हो चुकी है। जबकि प्रदेश में फिलहाल कोरोना वायरस के एक्टिव केस की संख्या 6,20,060 पहुंच गई है।

जरूर पढ़ें: होम आइसोलेशन में रहने वाले COVID-19 मरीजों के लिए जल्द ठीक होने का रामबाण नुस्खा

अगर बात करें मुंबई की तो यहां पर इस दौरान 16,906 नए मामले और 82 मौतें दर्ज की गई हैं। इसके चलते मुंबई के कुल कोरोना मामलों की गिनती बढ़कर 11,50,776 और मौतों की संख्या 21,416 तक पहुंच गई है।

महाराष्ट्र में आई कोरोना वायरस की इस नई लहर के दौरान सामने आ रहे रिकॉर्डतोड़ दैनिक मामलों के चलते प्रदेश में कई अस्पताल बेड और ऑक्सीजन के लिए तरस रहे थे। ऐसा ही हाल देश के कई राज्यों का है। देश पिछले दो दिनों से लगातार पूरी क्षमता से ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहा है, लेकिन अब इसे इसके लिए आयात को चालू करना होगा। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि यह 50,000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आयात करने की योजना बना रहा है।

Prev Page 1 of 2 Next
coronavirus
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned