होली पर बिहार लौटने वालों के लिए एडवाइजरी, बुखार या करोना के लक्षण हों तो न करें रेलयात्रा

  • देश में कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान जारी है
  • रेलवे ने बिहार लौटने वाले लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की है

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी ( Coronavirus Crisis ) के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान (Corona Vaccination Campaign) जारी है। बावजूद इसके कोरोना वायरस का जहरीला नाग फिर से अपना फन उठाता हुआ नजर जा रहा है। यही वजह है कि महाराष्ट्र और पंजाब समेत देश के कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन लगाने तक की नौबत आ गई है। इस बीच कुछ दिन बाद आने वाले होली के त्योहार को देखते हुए केंद्र और राज्य सरकारें अलर्ट हो गई हैं। वहीं, रेलवे ने भी सर्तकता दिखाते हुए होली पर राजधानी दिल्ली और मुबंई से बिहार लौटने वाले लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की।

कोरोना का खौफ: दिल्ली में फिर मिले COVID के 400 से ज्यादा मामले, जानिए कितनों ने तोड़ा दम

यात्रियों की गंभीरता से जांच

रेलवे की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया कि होली पर्व पर जो यात्री दिल्ली व मुंबई समेत देश के दुसरे इलाकों से बिहार आ रहे हैं, उनकी न केवल थर्मल स्कैनिंग की जाए, बल्कि उनको मास्क या फेस कवर पहनना भी अनिवार्य कर दिया गया है।

इसके चलते मुंबई से पटना जंक्शन पर उतरने वाले यात्रियों की गंभीरता से जांच की जा रही है। कोरोना संक्रमण को लेकर यात्रियों में जागरुकता लाने के लिए रेलवे की ओर से पटना जंक्शन पर अनाउंसमेंट कर उनको कोविड के खतरे के मद्देनजर अहतियात बरतने की सलाह दी जा रही है। यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, मास्क पहनने और अन्य नियमों का पालन करने संबंधी निर्देश दिए जा रहे हैं। रेलवे ने यात्रियों को बुखार या कोरोना वायरस के लक्षण हल्के लक्षण मिलने पर भी रेल में यात्रा न करने की सलाह दी है।

Coronavirus: महाराष्ट्र में बेकाबू होते दिख रहे हालात, 24 घंटे में मिले कोरोना के 15,817 मरीज

रेलवे कोई ढिलाई नहीं बरतना चाहता

पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि महाराष्ट्र समेत देश के दूसरे इलाकों से बिहार आ रहे यात्रियों की हर सूरत में जांच की जाए। चूंकि महाराष्ट्र लागातार कोरोना प्रभावित राज्यों की सूची में नंबर एक पर बना हुआ है। ऐसे में विशेष सर्तकता बरती जा रही है। चूंकि होली के समय बिहार लौटने वाले लोगों की संख्या काफी अधिक रहती है, इसलिए रेलवे कोई ढिलाई नहीं बरतना चाहता।

coronavirus
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned