Covid-19 : भारत में एक दिन में ठीक हुए रिकॉर्ड 56000 Corona मरीज, रिकवरी रेट 70%

  • India में जुलाई के पहले हफ्ते में लगभग 15000 Corona Patients रोज ठीक हो रहे थे।
  • अगस्त के पहले हफ्ते में ये संख्या बढ़कर 50000 के पार चली गई।
  • Coconavirus से recover हो रहे मरीज़ों के साथ कुल रिकवर हुए मरीजों की संख्या 16 लाख के पार पहुंच चुकी है।

नई दिल्ली। भारत में कोरेाना वायरस महामारी ( Coronavirus Pandemic ) का कहर के बीच एक शुभ संकेत यह है कि ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। पिछले 24 घंटों में भारत में रिकॉर्ड 56,000 कोरोना मरीज ( Coronavirus patients ) इलाज के बाद स्वस्थ होकर घर लौटे। यह एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की रिकॉर्ड ( Record ) संख्या है।

ताजा आंकड़ों के हिसाब से देखें तो भारत का रिकवरी रेट ( recovery rate ) 70 फीसदी तक तक पहुंच गया है।

हेल्थ मिनिस्ट्री ( Health Ministry ) की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड किए गए सबसे ज़्यादा रिकवरी मामले प्रभावी नियंत्रण नीति और बड़े पैमाने पर टेस्ट का परिणाम है। साथ ही भारतीय चिकित्सक ( Indian doctor ) अब कोरोना मरीज का इलाज करना भी सीख गए हैं।

Covid-19: 56,000 Corona patients recovering for a day in India, recovery rate 70%

बता दें कि भारत में जुलाई के पहले हफ्ते में रोज लगभग 15 हज़ार लोग ठीक हो रहे थे। अगस्त के पहले हफ्ते में ये संख्या 50 हज़ार के पार चली गई। लगातार रिकवर हो रहे मरीज़ों के साथ कुल रिकवर हुए मरीजों की संख्या 16 लाख के पार पहुंच चुकी है।

देश में एक्टिव मामलों ( Coronavirus active case ) की संख्या 6,43,948 है जो कुल मामलों का केवल 27 फीसदी है। कोरेाना संक्रमित सभी मरीजों को चिकित्सीय देख रेख में इलाज चल रहा है।

कोरोना वायरस के मरीज़ों का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि अब कोरोना से कम लोगों की मौत हो रही है। अब हमें खराब मामलों को मैनेज करके सीख और अनुभव मिल गया है।

दिल्ली के मूलचंद अस्पताल में मेडिसिन विभाग के वरिष्ठ सलाहकार डॉक्टर श्रीकांत शर्मा ने का इस मामले में कहना है कि हमारे पास कुछ महीने पहले की तुलना में अधिक दवाएं और सहायक चिकित्सक हैं। अब हम ये बेहतर तरीके से जानते हैं कि एक कोविद-19 ( Covid-19 ) के मरीज के लिए क्या अच्छे से काम करते है क्या नहीं।

अब भारत में वैश्विक औसत की तुलना में केस फैटलिटी रेट ( CFR ) भी कम है। वर्तमान में यह दर 1.98 फीसद है। भारत में टेस्टिंग की संख्या में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है। मंगलवार को अब तक सबसे ज़्यादा 7,33,449 टेस्ट हुए। ये टेस्ट पूरे देश में मौजूद 1,421 प्रयोगशालाओं में हुए।

Coronavirus Pandemic coronavirus cases Coronavirus Cases in India
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned