अब दिल्ली में आसान नहीं होगी इन 5 राज्य से आने वालों के लिए एंट्री, पहले पूरी करना होगी ये खास शर्त

  • दिल्ली में आसान नहीं होगी एंट्री
  • पांच राज्यों से आने वालों को लेकर दिल्ली आपदा प्रबंधन विभाग (DDMA) सख्त
  • कोरोना के चलते अपने साथ रखनी होगी कोविड की निगेटिव रिपोर्ट

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली ( Delhi ) में एंट्री करना अब आसान नहीं होगा। राजधानी में प्रवेश के लिए पांच राज्यों से आने वालों को लोगों को लेकर खास दिशा निर्देश जारी किए हैं। दरअसल कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते नए मामलों को लेकर ये फैसला लिया गया है। देश के 5 राज्यों से दिल्ली आने वाले लोगों की एंट्री को लेकर राज्य सरकार कुछ नियम लागू करने की तैयारी में है।

इन पांच राज्यों से आने वालों पर नजर
दिल्ली सरकार महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों से दिल्ली आने वाले लोगों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर सकती है।

घर में स्टॉक कर लें जरूरी चीजें, देश के इन राज्यों में मौसम विभाग ने बारिश, बर्फबारी के साथ ओलावृष्टि का जारी किया अलर्ट

शुक्रवार से यह नियम लागू हो सकता है और बुधवार शाम तक इस संबंध में आधिकारिक आदेश जारी किया जा सकता है। महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए 26 फरवरी से 15 मार्च तक आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य हो सकता है।

दरअसल बीते करीब एक सप्ताह में सामने आए कोरोना के कुल मामलों में से 86 पर्सेंट केस इन्हीं राज्यों से सामने आए हैं।

72 घंटे से ज्यादा पुरानी ना हो रिपोर्ट
इन पांच राज्यों से दिल्ली आने वाले हर शख्स की रिपोर्ट 72 घंटे से ज्‍यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए. यानी आप अगर इन राज्यों से दिल्ली में आ रहे हैं तो हर हालत में आपकी रिपोर्ट निगेटिव होनी चाहिए।

अगर आपके पास 72 घंटे से पहले की निगेटिव रिपोर्ट है तो भी आपकी एंट्री दिल्ली में नहीं होगी या फिर क्वारंटीन किया जा सकता है। दिल्ली आपदा प्रबंधन विभाग इस बारे में आदेश जारी करने जा रही है।

आपको बता दें कि मंगलवार को जो देशभर में कोरोना के जो आंकड़े आए हैं, उसमें 86 प्रतिशत कोरोना के मामले इन्हीं पांच राज्यों से आए हैं।

वहीं केरल और महाराष्ट्र में कोरोना के नए स्ट्रेन सामने आने सभी हड़कंप मचा है। कर्नाटक और गुजरात जैसे पड़ोसी राज्यों की ओर से पहले ही ट्रैवल बैन लागू किए जा चुके हैं।

खासतौर पर महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। अमरावती, नागपुर जैसे इलाकों में तेजी से कोरोना के मामले देख जा रहे हैं।

इस क्षेत्र में 11 जिले आते हैं और खुद महाराष्ट्र के ही अन्य जिलों के प्रशासन ने विदर्भ से आने वाले लोगों की जांच में सख्ती बरतना शुरू कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, अब महिला के मायके वालों का भी होगा उसकी संपत्ति पर अधिकार

विदर्भ में कुल 11 जिले हैं, जिनमें से 5 अमरावती डिविजन के तहत आते हैं, जबकि नागपुर डिविजन में 6 जिले हैं। इसके अलावा परभणी जिला प्रशासन ने विदर्भ के 11 जिलों के लोगों के आवागमन पर रोक लगाई है। इसके अलावा साईं बाबा मंदिर को भी एहतियात के तौर पर बंद कर दिया गया है।

कोरोना के एक बार फिर सिर उठाने से देश भर में प्रशासन सतर्क है। इस बीच हरिद्वार में होने वाले कुंभ में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों के भी कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारी है। कुंभ मेले में कोरोना प्रोटोकॉल का खास ख्याल रखा जाएगा।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned