देशभर में आज से कोविड टीकाकरण का महाअभियान शुरू, 18+ को फ्री में टीका

केंद्र सरकार ने टीकाकरण को लेकर नई टीकाकरण नीति लागू की है, जो कि आज से प्रभावी होगी। इस नई नीति के तहत केंद्र सरकार वैक्सीन उत्पादन करने वाली कंपनियों से 75 फीसदी वैक्सीन खरीदेगी और राज्यों को निःशुल्क आपूर्ति करेगी।

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में काफी तबाही मची थी और अब सेकेंड वेव की रफ्तार धीमी पड़ चुकी है। लेकिन तीसरी लहर की संभावनाओं को लेकर सरकार तैयारी में जुटी है। तमाम स्वास्थ्य विशेषज्ञ और देश के शीर्ष अस्पतालों के डॉक्टर तीसरी लहर के खतरों को लेकर लगातार चेतावनी जारी कर रहे हैं।

विशेषज्ञों ने माना है कि अगले तीन महीने बाद यानी अक्टूबर तक देश में तीसरी लहर आ सकती है। लिहाजा, सरकार इससे पहले अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण करने पर जोर दे रही है। इसी को लेकर आज यानी सोमवार (21 जून) से पूरे देश में महाटीकाकरण अभियान की शुरूआत की जा रही है।

यह भी पढ़ें :- 21 जून से 18+ को कैसे और कहां मिलेगी फ्री वैक्सीन, क्या है पीएम मोदी का प्लान?

केंद्र सरकार ने टीकाकरण को लेकर नई टीकाकरण की नीति लागू की है, जो कि आज से प्रभावी होगा। इस नई नीति के तहत केंद्र सरकार वैक्सीन उत्पादन करने वाली कंपनियों से 75 फीसदी वैक्सीन खरीदेगी और राज्यों को निःशुल्क आपूर्ति करेगी।

पीएम मोदी ने इसी महीने की शुरुआत में देश को संबोधित करते हुए इसकी घोषणा की थी और कहा था कि पूरे देश में 21 जून से महाटीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाएगी। इस दौरान पीएम ने राज्यों को फ्री में वैक्सीन देने की भी घोषणा की थी।

18+ को फ्री में लगेगा टीका

आपको बता दें कि देश में इसी साल 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई थी। इसके बाद से लगातार अलग-अलग आयुवर्ग के लोगों के लिए अलग-अलग समय पर टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाया गया।

1 मई से टीकाकरण अभियान के चौथे चरण की शुरुआत की गई थी। चौथे चरण में 18+ आयुवर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण अनुमति दी गई थी। लेकिन वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता नहीं होने के कारण कई राज्यों में टीकाकरण अभियान प्रभावित हुआ। चूंकि पहले से लागू नीति के अनुसार, केंद्र सरकार 50 फीसद वैक्सीन खरीदती थी। बाकी के 50 फीसदी में 25 फीसद राज्य सरकारें और 25 फीसद निजी क्षेत्र के अस्पतालों का कोटा तय किया गया था।

यह भी पढ़ें :- खतरा: वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद भी कोरोना का डेल्टा वेरिएंट आपको कर सकता है संक्रमित

हालांकि, अब इस नीति में बदलाव किया गया है और प्रधानमंत्री मोदी ने सात जून को ऐलान किया था कि केंद्र सरकार कंपनियों से 75 फीसदी वैक्सीन खरीदेगी और राज्यों को मुफ्त में उपलब्ध कराएगी। इसके साथ ही यह भी घोषणा की थी 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को मुफ्त टीका लगाया जाएगा। हालांकि, निजी अस्पतालों में टीका लगाने पर आपको खर्च करने पड़ेंगे।

90-95 करोड़ लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य

केंद्र सरकार ने इस साल के अंत तक 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा है। देश में इस वर्ग की आबादी लगभग 90-95 करोड़ के बीच है। ऐसे में इस आबादी को टीका लगाने के लिए 180-190 करोड़ डोज की जरूरत होगी। रविवार सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक 27.62 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं।

यह भी पढ़ें :- GST काउंसिल का बड़ा फैसला, टैक्स फ्री हुई ब्लैक फंगस की दवा, ऑक्सीजन भी सस्ती

इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए करीब 80-90 लाख डोज हर दिन लगाना पड़ेगा। चूंकि अभी औसतन हर दिन 30 लाख डोज लगाए जा रहे हैं। इस अधार पर जून तक कुल 30 करोड़ डोज लगा दी जाएंगी। बाकी के छह महीने में इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रतिदिन औसतन 80-90 लाख डोज लगाने की जरूरत होगी। सरकार की कोशिश है कि जुलाई के अंत तक हर दिन एक करोड़ डोज लगाई जाएगी।

टीकाकरण अभियान की कुछ खास बातें

- देशभर में 21 जून से टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी।
- केंद्र सरकार 75 फीसद वैक्सीन खरीदेगी और राज्यों को फ्री में उपलब्ध कराएगी।
- राज्यों को वैक्सीन के लिए पैसे नहीं खर्च करने पड़ेंगे।
- निजी अस्पताल बाकी के 25 फीसद वैक्सीन खरीदेगी।
- देशभर में 30 हजार से अधिक प्राइवेट टीकाकरण केंद्रों में लगाए जाएंगे टीका।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned