भारतीय रेलवे पर भी थी साइबर अटैक की साजिश

- रिकॉर्डेड फ्यूचर की रिपोर्ट में खुलासा ।
- चीनी हैकर्स अब भी सक्रिय।

नई दिल्ली. पिछले छह साल में डेढ़ लाख से ज्यादा भारतीय वेबसाइट्स हैक की गईं। अमरीकी कंपनी रिकॉर्डेड फ्यूचर की रिपोर्ट ने खुलासा किया है। इसके मुताबिक 2020 तक के छह साल के दौरान हर साल 26 हजार से ज्यादा और रोज 72 भारतीय वेबसाइट्स हैक हुईं। रिपोर्ट में कहा गया कि चीनी हैकर्स समूह रेडईको भारत के 10 पावर सेक्टर, एनटीपीसी, भारतीय रेलवे और दो बंदरगाहों समेत कई क्षेत्रों में साइबर अटैक कर चुका है। रिकॉर्डेड फ्यूचर मैसाचुसेट्स की साइबर सिक्योरिटी फर्म है। इसने हाल ही भारत के खिलाफ चीन की साजिश का खुलासा किया था। रिपोर्ट में नई बात यह है कि भारतीय रेलवे भी चीनी हैकर्स के निशाने पर थी।

रिकॉर्डेड फ्यूचर की रिपोर्ट के मुताबिक चीन से सोची-समझी रणनीति के तहत साइबर अटैक को अंजाम दिया। इसके लिए उसने जिस तकनीक का इस्तेमाल किया, वह नई नहीं है। चीन पहले भी दूसरे देशों के खिलाफ इसका इस्तेमाल कर चुका है। अमरीकी कंपनी ने चेताया है कि भारत के पावर सेट-अप पर हमला करने वाला चीनी समूह अब भी सक्रिय है। वह भविष्य में ऐसे दूसरे हमलों को अंजाम दे सकता है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned