Corona संकट के बीच केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली में हुआ नाइट कर्फ्यू का ऐलान

Coronavirus के बढ़ते मामलों के बीच केजरीवाल सरकार का ऐलान, तत्काल प्रभाव से लागू होगा नाइट कर्फ्यू

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus In India ) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। कई राज्यों में हालात चिंताजनक बनते जा रहे हैं। महाराष्ट्र के बाद राजधानी दिल्ली में भी नए केसों में तेजी से उछाल देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि सरकार लगातार कड़े कदम उठाकर कोरोना को काबू करने में जुटी है।

इस बीच दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू ( Night Curfew ) लगा दिया गया है। ये नियम मंगलवार रात से ही लागू कर दिया गया है। यानी रात 10 से सुबह 5 बजे तक इमरजेंसी को छोड़कर लोगों के घर से बाहर निकलने पर प्रतिबंध रहेगा।

30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने सख्‍ती दिखानी शुरू कर दी है। देश की राजधानी में तत्‍काल प्रभाव से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है।
यह आदेश 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान किसी भी तरह की गतिविधि प्रतिबंधित रहेगी। साथ ही आवाजाही पर भी पाबंदी रहेगी। इस दौरान जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को राहत दी जाएगी।

तेजी से बढ़ रहे नए केस
दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, करीब चार हजार कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं और टेस्ट का पॉजिटिविटी रेट भी साढ़े पांच फीसदी से ऊपर हो गया है। यही वजह है कि केजरीवाल सरकार अब सख्ती के मूड में है।

राजधानी में नाइट कर्फ्यू को लेकर बयान तब आया है जब यहां कोरोना के दैनिक मामले 3,548 पहुंच गए हैं। ये पिछले दिन के आंकड़े से थोड़ा अधिक है।
लॉकडाउन को लेकर ये बोले थे सीएम
दिल्ली में पिछले तीन हफ्तों से कोरोना के नए मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। हालांकि हाल में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि राजधानी में नए मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है, लेकिन पहले की तुलना में इस बार संक्रमण दर कम है। ऐसे में फिलहाल लॉकडाउन करने की जरूरत नहीं है।
वहीं स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी कह चुके हैं हमारा ज्यादा फोकस कंटेनमेंट जोन बढ़ाने और वैक्सीनेशन पर रहेगा। लॉकडाउन लगाना इस समस्या का समाधान नहीं है।

राजधानी में कोरोना के कुल मामले 6,79,962 हो गए हैं। जबकि पॉजिटिविटी रेट 5.54 फीसदी है। यह लगातार चौथा दिन है कि जब दिल्ली में 3,500 से ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। इससे पहले यहां 4,033 नए मामले दर्ज किए गए थे, जो कि साल 2021 का सबसे बड़ा दैनिक आंकड़ा था।
इसी तरह 3 अप्रैल को 3,567 और 2 अप्रैल को 3,594 मामले सामने आए थे।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned