हरिद्वार में कोरोना की जांच के बाद ही गंगा में डुबकी लगा सकेंगे श्रद्धालु

Highlights.
- शहर में नए स्ट्रेन के आने के बाद प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया है
- हरिद्वार के अलावा, राज्य के दूसरे जिलों में भी जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं
- जिला प्रशासन ने सभी श्रद्धालुओं को कोविड टेस्ट भी अनिवार्य कर दिया है

 

नई दिल्ली।

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने पवित्र नगरी हरिद्वार में भी अपनी दस्तक दे दी है। शहर में नए स्ट्रेन के आने के बाद प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया है। यहां माघ पूर्णिमा के स्नान को लेकर जोर-शोर से तैयारियां चल ही रही थीं। इसके अलावा कांवड़ यात्रा भी जल्द शुरू होने वाली है। ऐसे में प्रशासन ने अतिरिक्त सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है। हरिद्वार के अलावा, राज्य के दूसरे जिलों में भी जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

माघ पूर्णिमा के बाद कांवड़ यात्रा को देखते हुए प्रशासन ने यह अलर्ट जारी कर दिया है कि गंगा में डुबकी वही श्रद्धालु लगा सकेंगे, जो कोरोना निगेटिव का प्रमाण पत्र साथ रखेंगे। यही नहीं, प्रशासन ने श्रद्धालुओं को कोविड टेस्ट भी अनिवार्य कर दिया है। बता दें कि गुजरात, महाराष्ट, पंजाब, तमिलनाडु, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में हालात बिगड़ रहे हैं। इसके अलावा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और केरल में भी नए स्टे्रन ने आमद करा दी है। हरिद्वार में स्नान के लिए इन राज्यों से भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में प्रशासन ने सभी के लिए कोरोना परीक्षण की एडवायजरी जारी कर दी है।

1 मार्च से शुरू हो रहा कोरोना वैक्सिनेशन का दूसरा चरण, जानिए इस बार किसे लगेगा टीका

प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार, शहर के सभी गंगा घाट पर कोरोना टेस्ट की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। गंगा में डुबकी लगाने से पहले श्रद्धालु को कोरोना टेस्ट कराना जरूरी होगा। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही गंगा में स्नान की अनुमति दी जाएगी। जांच के लिए अलग से स्वास्थ्यकर्मियों की तैनाती की गई है।

वकील ने हाईकोर्ट में उतार दिया मास्क, जज ने सुनवाई से कर दिया इनकार

बता दें कि कई राज्यों में हालात फिर से बिगड़ रहे हैं। महाराष्ट्र के अकोला जिले में तो लॉकडाउन 7 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है। यहां अब 8 मार्च तक लॉकडाउन लागू रहेगा। वहीं, नागपुर में 7 मार्च तक जिले के सभी स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। अमरावती जिले में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया।

COVID-19
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned