100 लोगों की हत्या कर चुका है ये जल्लाद डॉक्टर, मारने के बाद लाश को फेंक देता है मगरमच्छों के लिए

Highlights
- इस कोरोना काल (Coronavirus) में जहां एक तरफ डॉक्टर (Doctor) अपनी जान जोखिम में डालकर दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे हैं तो वहीं दूसरी तरफ एक डॉक्टर लोगों के लिए यमराज बन गया है
- इस डॉक्टर ने अब तक 100 से ज्यादा ट्रक ड्राइवरों और टैक्सी चालकों की हत्या कर चुका है और 100 कत्ल के बाद उसने गिनती करना छोड़ दिया है
- यह सीरियल किलर डॉक्टर हरियाणा (Haryana Doctor) का रहने वाला है

नई दिल्ली. हमारे समाज में डॉक्टर (Doctor) को भगवान का दर्जा दिया गया है, क्योंकि वहीं एक ऐसा शख्स है जो किसी को मौत के मुंह से जाने से बचा सकता है। इस कोरोना काल (Coronavirus) में जहां एक तरफ डॉक्टर (Doctor) अपनी जान जोखिम में डालकर दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे हैं तो वहीं दूसरी तरफ एक डॉक्टर लोगों के लिए यमराज बन गया है।

इस डॉक्टर ने अब तक 100 से ज्यादा ट्रक ड्राइवरों और टैक्सी चालकों की हत्या कर चुका है और 100 कत्ल के बाद उसने गिनती करना छोड़ दिया है। यह सीरियल किलर डॉक्टर हरियाणा (Haryana Doctor) का रहने वाला है। इसका नाम डॉक्टर देवेंद्र शर्मा (Dr. Devendra Sharma) है। पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल कर बापरौला (Baprola) से इस जल्लाद डॉक्टर को गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है।

किडनी रैकेट में भी जुड़ा है नाम

जानकारी के मुताबिक ये जल्लाद डॉक्टर कई राज्यों में फैले किडनी रैकेट (Kidney racket) से भी जुड़ा था। वह करीब 125 लोगों की किडनी अवैध (Kidney) रूप से निकालकर ट्रांसप्लांट (Transplant) कर चुका है। राजस्थान की जयपुर पुलिस को इसकी पैरोल जंपिंग (Parole jumping) मामले में तलाश थी।

पुलिस ने किया गिरफ्तार

अपराध शाखा के डीसीपी डॉ. राकेश पावरिया (Dr. Rakesh Powariya) के अनुसार, नारकोटिक्स सेल के इंस्पेक्टर राममनोहर को 28 जुलाई को सूचना मिली कि हत्या में उम्रकैद काट रहा सीरियल किलर (Serial killer) देवेंद्र कुमार शर्मा जनवरी 2020 में पैरोल जंप कर गया था और दिल्ली के बापरौला (Baprola) में छिपकर रह रहा है। उनकी देखरेख में एसआई श्याम बिहारी सरन, हवलदार अशोक नागर, संजय, सिपाही सुमित व सुनील की टीम ने डॉ. देवेंद्र कुमार शर्मा (62) को गिरफ्तार कर लिया।

विधवा से शादी कर रह रहा था छिपकर

पुलिस के मुताबिक, एक विधवा से शादी कर वह यहां छिपकर रह रहा था। इसने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। दिल्ली पुलिस ने जयपुर पुलिस सें संपर्क साधा और इसके बारे में जानकारी ली तो उसने सच उगल दिया।

मगरमच्छों में फेंक देता था लाश

जानकारी के मुताबिक वह ट्रक ड्राइवरों की हत्या कर उनके शव को कासगंज स्थित हजारा नहर में मगरमच्छों के लिए फेंक देता था ताकि कोई सुबूत न मिले। गाड़ियों को कासगंज में बेच देता था या फिर मेरठ में कटवा देता था। एक टैक्सी के बिकने या कटने पर डॉक्टर को 20 से 25 हजार रुपये मिलते थे।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned