कोरोना का असर, बदला हर 5 में से 4 भारतीय की खरीदारी का अंदाज

भारत में 81 प्रतिशथ लोगों की खरीदारी का तरीका बदला।
60 प्रतिशत बल्क में सामान खरीदने को दे रहे प्राथमिकता ।
70 प्रतिशत घर को साफ रखने के उत्पादों पर ज्यादा जोर।
डेयरी प्रोडक्ट से लेकर फल-सब्जी की खपत में हुआ बदलाव।

नई दिल्ली । कोरोना से उपजे हालात ने भारत समेत दुनियाभर में लोगों की खरीदारी की आदतों में खासा बदलाव किया है। शहरी भारतीय उपभोक्ताओं में ऑनलाइन शॉपिंग, सफाई उत्पादों की खरीद, सेनिटाइजर का उपयोग और खाद्य सामग्री को जमा करने का चलन बढ़ गया है। ब्रिटिश अंतरराष्ट्रीय इंटरनेट-आधारित मार्केट रिसर्च और डेटा एनालिटिक्स फर्म यूगोव द्वारा दुनिया के 17 देशों में किए गए सर्वे के अनुसार महामारी ने लोगों की खरीदारी की आदतों को बदला है। सर्वे में करीब 18 हजार लोगों को शामिल किया गया।

दुनिया में 59 फीसदी खरीदारों ने बदला अपनी शॉपिंग का तरीका-
स्वच्छता पर देने लगे विशेष ध्यान
सर्वे में शामिल 70 फीसदी से अधिक ने घर में साफ-सफाई के लिए उत्पादों की खरीदारी बढ़ा दी। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत सफाई उत्पादों की खरीदारी के लिए दुनिया के सबसे बड़े बाजारों में से एक है।

ऑनलाइन खरीदारी के लिए हुए उत्सुक-
महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन ने लोगों में ऑनलाइन खरीदारी का चलन बढ़ा दिया। सर्वे में 67 फीसदी ने माना कि वे महामारी खत्म होने के बाद भी ऑनलाइन खरीदारी करते रहेंगे।

बढ़ी डेयरी उत्पाद और फल-सब्जी की खरीद-
सर्वे के अनुसार महामारी के दौरान 53 फीसदी शहरी भारतीयों ने डेयरी उत्पादों की खपत बढ़ाई। वहीं, 66 फीसदी ने फल-सब्जी की खरीदारी पर जोर दिया। प्रति 10 में से 3 (29 फीसदी) ने माना कि महामारी के दौरान अल्कोहल-सेनिटाइजर की खपत बढ़ गई। 36 फीसदी ने कहा कि उन्होंने पर्सनल केयर व ब्यूटी प्रोडक्ट की खरीदारी कम कर दी।

बदल गई आदतें-
हर 5 में से 4 भारतीय ने माना कि कोरोना महामारी से उनकी खरीदारी की आदतें बहुत बदली हैं। सर्वेक्षण में दुनियाभर में ऐसा मानने वाले 59.4 फीसदी लोग थे।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned