हरियाणा के ​सीएम खट्टर का दावा, किसान आंदोलन के कारण गांव में फैल रहा कोरोना संक्रमण

मनोहर लाल खट्टर ने तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से अपने प्रदर्शन को स्थगित करने की अपील की है।

नई दिल्ली। पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर भारी तबाही मचा रही है। महानगरों के साथ अब यह छोटे शहरों में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां तक की अब गांव भी अछूते नहीं रह गए हैं। इस बीच हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों से अपने प्रदर्शन को स्थगित करने की अपील की है।

Read More: कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ईद के मौके पर किया बड़ा ऐलान, मालेरकोटला पंजाब का 23वां जिला बना

सीएम ने दावा किया कि धरना स्थलों से किसानों की आवाजाही के कारण गांवों में संक्रमण की रफ्तार तेज हुई है। मनोहर लाल खट्टर के अनुसार किसान बाद में अपनी इच्छा से प्रदर्शन दोबारा शुरू कर सकते हैं लेकिन अभी उन्हें इसे खत्म कर देना चाहिए।

धरना स्थगित करने की अपील

सीएम ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर कहा कि अगर वे धरना दोबारा शुरू करने की इच्छा व्यक्त करते हैं तो वे स्थिति नियंत्रण में आने के बाद ऐसा करने को स्वतंत्र हैं। खट्टर के अनुसार उन्होंने एक माह पहले किसान नेताओं से धरना स्थगित करने की अपील की थी ताकि संक्रमण नहीं फैले।

बीते कई महीनों से किसान दिल्ली सीमा पर बैठे

खट्टर ने कहा, 'इन धरनों के कारण संक्रमण तेजी फैल रहा है।' मुख्यमंत्री ने कहा कि कई गांव संक्रमण के केंद्र के रूप में सामने आए हैं क्योंकि लोग नियमित रूप से धरना स्थलों से आवाजाही कर रहे हैं।' गौरतलब है कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ बीते कई महीनों से किसान दिल्ली के सिंघू और टिकरी बार्डर के अलावा हरियाणा के कई स्थानों पर महीनों से धरना चल रहा है।

Read More: कोरोना को एक जीव बताने पर त्रिवेंद्र रावत के बयान पर हंगामा, लोगों ने कसा तंज, कहा- इसका आधार कार्ड भी होगा

जरूरी कदम उठाए जा सकते हैं

सीएम ने कहा, 'उनके नेताओं को स्थिति को समझना चाहिए। उनसे कहा जा रहा है कि टीका लगवाएंगे लेकिन खुद अपनी जांच कराने को इच्छुक नहीं हैं। अगर वे जांच नहीं कराते हैं तो यह जानना कठिन होगा कि कौन संक्रमित है।' किसानों को जांच के लिए सामने आना चाहिए ताकि मामले सामने के बाद उसके अनुरूप जरूरी कदम उठाए जा सकते हैं।

चिकित्सा प्रणाली पर भारोसा जताएं

किसानों की जांच से इनकार करने का संदर्भ देते हुए सीएम ने कहा कि सभी को स्वास्थ्य एवं चिकित्सा प्रणाली पर भारोसा रखने की आवश्यकता है। अगर हम शंकित रहना शुरू कर देंगे तो यह हमारी संकुचित मानसिकता को दर्शाता है। ऐसे में धरना स्थल पर बैठे किसानों से उनका आग्रह है कि वे अपनी जांच कराएं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned