क्वारंटीन पूरा करने पर मिलेंगे दो हजार रुपये, साथ में कई सुविधाएं भी देगी उड़ीसा सरकार, जानिए नियम

Highlights
- कोरोना वायरस (coronavirus outbreak) संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को क्वारंटीन (Quarantine) किया जा रहा है
- एक दूसरे के कांटेक्ट से फैलने वाली बीमारी को रोकने का सबसे कारगर तरीका क्वारंटीन (Quarantine) माना जा रहा है
- क्वारंटीन सेंटर (Quarantine Center) में जाने से हिचकिचा रहे हैं, घबरा रहे हैं

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर लगातार जारी है। इस महामारी (Coronavirus in india) ने दुनिया भर में पैर पसार लिया हैं। तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (coronavirus outbreak) संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को क्वारंटीन (Quarantine) किया जा रहा है। एक दूसरे के कांटेक्ट से फैलने वाली बीमारी को रोकने का सबसे कारगर तरीका क्वारंटीन (Quarantine) माना जा रहा है। पर लोग इससे बच रहे हैं। क्वारंटीन सेंटर (Quarantine Center) में जाने से हिचकिचा रहे हैं, घबरा रहे हैं। अब इसी घबराहट को दूर करने के लिए उड़ीसा सरकार (Government of Odisha) ने एक नायाब तरीका खोज निकाला है।

क्वारंटीन अवधि पूरी करने पर मिलेंगे 2 हजार

यह लोगों को काफी आकर्षित करने में कामयाब रहेगी। उड़ीसा सरकार ने आइसोलेशन (isolation) और क्वारंटीन होने वाले लोगों के लिए पैसे देने की योजना शुरू की है। इस योजना के तहत दूसरे राज्यों से उड़ीसा आने वालों को क्वारंटीन अवधि पूरा करने पर ₹2000 दिए जाएंगे। पहले ही दिन 144 लोगों के खाते में पैसे ट्रांसफर कर दिए गए हैं।

नहीं है कोई नुकसान

इस योजना के पीछे का मकसद बताते हुए जजपुर के डीएम रंजन कुमार दास ने कहा, 'जरूरी क्वारंटीन के लिए लोगों के सामने आने और खुद रजिस्ट्रेशन कराने के लिए राज्य सरकार ने इन्सेन्टिव की घोषणा की है। उन्हें इसमें कोई नुकसान नहीं है क्योंकि क्वारटीन पीरियड में वे कोई भी काम नहीं कर सकते हैं।'

1300 अस्थायी क्वारंटीन सेंटरों का निर्माण

रंजन कुमार ने बताया कि जिले में 1300 अस्थायी क्वारंटीन सेंटरों का निर्माण किया गया है। सरकारी आदेश के मुताबिक, दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को इन सेंटरों में क्वारंटीन अवधि पूरा करने के बाद दो हजार रुपये दिए जाएंगे।

मिलती है ये सुविधाएं

दास ने बताया कि इन सेंटरों में वयस्कों को 120 रुपये प्रतिदिन और बच्चों को 100 रुपये प्रतिदिन का मुफ्त भोजन उपलब्ध कराया जाता है। अगर कोई व्यक्ति सेंटर के अंदर बागबानी या पेंटिंग जैसा कोई काम करना चाहता है तो उसे 150 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान किया जाता है। यह भुगतान अधिकतम दस दिन तक दिया जाता है।


गौरतलब है कि उड़ीसा में वर्तमान समय कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 6,888 तक पहुंच गई है जबकि इसमें 4743 लोग स्वस्थ हुए हैं। 2086 सक्रिय मरीज हैं, जिनका विभिन्न कोविड अस्पताल में इलाज चल रहा है। कोरोना से 30 लोगों की मौत हुई है जबकि 7 कोरोना संक्रमित मरीज की मौत अन्य कारण से हुई है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned