हरियाणाः कोरोना पर काबू पाने के लिए सरकार ने तत्काल प्रभाव से लागू किया नाइट कर्फ्यू

कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच हरियाणा सरकार ने तत्काल प्रभाव से रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक कोरोना कर्फ्यू यानी नाइट कर्फ्यू लागू करने का ऐलान कर दिया है।

 

चंडीगढ़। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच हरियाणा सरकार ने सोमवार को तत्काल प्रभाव से रात 9 बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू करने की बड़ी घोषणा कर दी। बता दें कि इससे पहले हरियाणा के पड़ोसी राज्यों जैसे पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के अलावा केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ में भी कोविड कर्फ्यू लागू किया जा चुका है।

बड़ी खबरः दो टीके लगवाने के बाद भी लोगों को हो रहा है कोरोना, डॉक्टर भी नहीं रहे सुरक्षित

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सोमवार को संवाददाताओं को जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस के मामलों में अचानक हुई बढ़ोतरी को देखने के बाद यह फैसला लिया गया है।

गौरतलब है कि हरियाणा में कोरोना वायरस के सक्रिय यानी एक्टिव केसेज की संख्या पिछले 11 दिनों में दोगुनी हो गई है। जहां हरियाणा में अप्रैल की शुरुआत में कोरोना वायरस के कुल 10,300 एक्टिव मामले थे, वहीं 11 अप्रैल को इनकी संख्या बढ़कर 20,000 से ऊपर पहुंच चुकी है।

No data to display.

हरियाणा सरकार द्वारा इस संबंध में जारी किए गए दिशा-निर्देशों के मुताबिक आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत हरियाणा प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण प्रदेश में सोमवार रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक सभी गैर-जरूरी गतिविधियों और व्यक्तियों के आने-जाने को प्रतिबंधित करती है। कोई भी व्यक्ति इस दौरान ना तो अपना घर छोड़ेगा, ना ही पैदल-गाड़ी में घूमेगा या फिर किसी सड़क या सार्वजनिक स्थान पर खड़ा या घूमता मिलेगा।

जरूर पढ़ें: 2015 में दी थी कोरोना महामारी की चेतावनी और अब बिल गेट्स ने की दो भविष्यवाणी

हालांकि इस दौरान कानून एवं व्यवस्था, नगर पालिका, एग्जिक्यूटिव मजिस्ट्रेट, पुलिसकर्मियों, वर्दी में मिलिट्री/सीएपीएफ जवान, स्वास्थ्य, बिजली, अग्नि, मान्यता प्राप्त मीडियाकर्मी और कोरोना से जुड़े सरकारी कर्मचारियों को पहचान पत्र दिखाने पर जाने दिया जाएगा।

इसके अलावा जिनके पास कर्फ्यू के दौरान आने-जाने का पास है, या फिर जरूरी या गैर-जरूरी माल के अंतरराज्यीय या राज्य के अंदर आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। वहीं, अस्पताल, मेडिकल स्टोर, एटीएम हर वक्त खुले रहेंगे। गर्भवती महिलाओं और मरीजों को आने-जाने की छूट रहेगी और हवाई अड्डा या रेलवे स्टेशन या बस अड्डे पर आ-जा रहे लोगों को छूट रहेगी।

देश भर में बढ़ते कोरोना वायरस के तेजी से मामलों के बीच राज्य सरकारें इस पर काबू पाने के लिए तमाम कोशिशों में जुटी हुई हैं। गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई राज्यों के मुख्यमंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पीएम ने प्रदेशों से इस महामारी पर काबू पाने के सारे प्रयास करने की बात कही थी। पीएम ने टेस्ट, ट्रैक एंड ट्रीट की फॉर्मूला देते हुए कहा था कि लॉकडाउन की जरूरत नहीं है, लेकिन कोरोना कर्फ्यू यानी नाइट कर्फ्यू पर विचार किया जा सकता है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned