महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने ब्लैक फंगस को लेकर दी चेतावनी, कहा-अंधाधुंध स्टेरॉयड के इस्तेमाल से बचें

महाराष्ट्र में इससे अब तक 90 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 300 लोग ग्रसित पाए गए है।

नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है। वहीं दूसरी ओर ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। दिल्ली और महाराष्ट्र के साथ देश के कई शहरों में ब्लैक फंगस के मामले देखने को मिल रहे हैं। बीते दिनों दिल्ली के मूलचंद अस्पताल में ब्लैक फंगस से ग्रसित एक मरीज ने दम तोड़ दिया है। राजधानी में अब तक 200 लोग इससे पीड़ित बताए गए हैं। महाराष्ट्र में इससे अब तक 90 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 300 लोग ग्रसित पाए गए हैं। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को इसकी जानकारी दी है।

Read more: यूरोपीय संघ ने यात्रा प्रतिबंध पर छूट देने के लिए बनाए नए नियम, ये शर्तें रखीं

अंधाधुंध स्टेरॉयड के इस्तेमाल से बचें

गौरतलब है कि ब्लैक फंगस के मामले बीते साल कोरोना संक्रमण के आने के बाद आने शुरू हो गए थे। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना मरीजों को इलाज के दौरान अंधाधुंध स्टेरॉयड के इस्तेमाल को लेकर भी चेताया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ब्लैक फंगस से महाराष्ट्र में अबतक 90 लोगों की मौत हो चुकी है। मंत्री ने कहा कि इसे हल्के में बिल्कुल न लिया जाए। यह गंभीर बीमारी है।

एंफोटेरिसिन बी बाजार से गायब

टोपे के अनुसार कोरोना संक्रमितों के मरीजों के इलाज में स्टेरॉयड के अंधाधुंध उपयोग से बचने की जरूरत है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण से होने वाली मौत के मामलों की कमी देखने मिल रही है। मगर ब्लैक फंगस ने चिंता बढ़ा दी है। इसके इलाज में काम आने वाली महत्वपूर्ण दवा एंफोटेरिसिन बी बाजार से गायब है। जैसे-जैसे राज्यों में ब्लैक फंगस का प्रभाव बढ़ रहा है, इसके मरीजों की संख्या लगतार बढ़ती जा रही है।

Read More: सिंगापुर में नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए बच्चों के स्कूलों को किया बंद, आवाजाही रोकी

बेड्स की कमी

ब्लैक फंगस के मामले राजधानी दिल्ली में भी अब सामने आने लगे हैं। यहां 200 से अधिक मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं कुछ अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड्स की कमी की समस्या सामने आई है। महाराष्ट्र सरकार ने पीएम मोदी से एंफोटेरिसिन बी की 2 लाख वाइल्स की मांग रखी है। हालांकि अभी उन्हें सिर्फ 15-16 हजार डोज ही मिली हैं।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned