History of 28 April: आज के दिन से ही देश में गहराया था कोरोना का संकट, कई अहम घटनाएं हुईं

बीते साल आज ही के दिन देश में कोरोना की पहली लहर देखने को मिली थी। देशभर में संक्रमण के मामलों में तेजी आई थी। आज भी हालात बदतर बने हुए हैं। हम अब भी इस महामारी से लड़ने में जुटे हुए हैं।

नई दिल्ली। एक साल पहले आज ही के दिन यानी 28 अप्रैल को कोरोना वायरस देश में कहर बनकर टूटा था। इतिहास में 28 अप्रैल को बहुत सी अच्छी घटनाएं भी हुईं , मगर कोरोना के सामने सभी बौनी साबित हुई हैं। बीते साल 28 अप्रैल 2020 को देश में कोरोना वायरस से जान गंवानों वालों की तादात 937 तक पहुंच गई थी। इस दौरान संक्रमितों का आंकड़ा 29,974 के पार चला गया था। इसके साथ ही दुनियाभर में कोविड-19 से हालात बदतर होते चले गए।

Read More: देशभर में 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं को 1 मई से लगेगा कोरोना का टीका, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया आज से शुरू

आज के संदर्भ में देखें तो यह संख्या काफी कम है, लेकिन बीते साल के माहौल को याद करते हैं तो डर और भय के कारण लोग अपने घर में कैद हो गए थे। इस दौरान देश में कई माह तक लॉकडाउन लगा रहा। हालात आज भी बेहतर नहीं हैं। इनसान ने उम्मीद का दामन भी छोड़ा नहीं है।

यूक्रेन के चेरनोबिल में परमाणु विकीरण

इस दिन कई घटनाएं ऐसी हैं जो आपका ध्यान खींचती हैं। 28 अप्रैल 1986 का ही दिन था, जब सोवियत संघ ने स्वीकार किया कि दो दिन पहले यूक्रेन के चेरनोबिल में परमाणु विकीरण हुआ। वर्ष 1914 में 28 अप्रैल के दिन अमरीका में वेस्ट वर्जीनिया के एस्सेल्स इलाके में एक कोयला खदान में 181 लोगों की मौत की घटना सामने आई थी।

Read More: चीन के विशेषज्ञों का सबसे बड़ा खुलासा, चीनी कोरोना वैक्सीन को बताया दुनिया में सबसे असुरक्षित

28 अप्रैल को घटित कई अहम घटनाएं

इसके साथ इतिहास में 28 अप्रैल की तारीख में कई अन्य घटनाएं भी शामिल हैं। इस दिन वर्ष 1740 में मराठा शासक पेशवा बाजीराव प्रथम का निधन हुआ। वर्ष 1932 में इंसानों के लिए पीत ज्वर का टीका विकसित हुआ था। वर्ष 1937 में इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन का जन्म हुआ। हालांकि सद्दाम के जीवन का अंतिम समय काफी दुखद रहा था। वर्ष 1943 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस जर्मनी से जापान की यात्रा को लेकर एक जर्मन से जापानी पनडुब्बी में सवार हुए। वर्ष 1945 के इटली के तानाशाह बेनितो मुसोलिनी, उनकी प्रेमिका क्लारा पेटाची की हत्या हुई। वर्ष 1995 में दक्षिण कोरिया में मेट्रो में गैस विस्फोट होने से 103 लोगों की मौत हुई। वर्ष 2008 में भारतीय अन्तरिक्ष अनुसंधान संगठन ने पीएसएलवी-सी9 के प्रक्षेपण कर इतिहास रचा था। वर्ष 2020 में देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 937 तक पहुंची। संक्रमितों की तादाद 29,974 के पार।

coronavirus COVID-19
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned