IIT दिल्ली के वैज्ञानिकों ने बनाया शाकाहारी अंडे, भरपूर मात्रा में मिलेगा प्रोटीन !

इस खोज के लिए आईआईटी दिल्ली को इनो वेट्स फॉर एसडीजी फॉर एसडीजी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार भी मिला है। जिसमें ईनाम के तौर पर 5000 अमेरिकी डॉलर मिले हैं।

नई दिल्ली। आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) ने ऐसे अंडे तैयार किया है, जो पूरी तरह से शाकाहारी होंगे। बताया जा रहा है कि इनका उत्पादन शुद्ध रूप से वनस्पतियों के माध्यम से किया गया है। इन्हें वो लोग बड़े चाव से खा सकते हैं जो मुर्गी के अंडे को नहीं खाते।

कितने दिनों तक खा सकते हैं फ्रिज में रखे अंडे? जानें कैसे पता लगाएं खराब है या ताजा

अपने इस आविष्कार के लिए आईआईटी दिल्ली ने इनो वेट्स फॉर एसडीजी फॉर एसडीजी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया है। दरअसल, एक्सेलेरेटर लैब इंडिया ने यूनाइटेड नेशन डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत इस प्रतियोगिता का आयोजन किया था। आईआईटी दिल्ली के सेंटर फॉर रूरल डेवलपमेंट एंड टेक्नोलॉजी की प्रोफेसर काव्या दशोरा ने इस प्रतियोगिता को जीता है।

 

काव्या दशोरा का कहना है कि ये नकली अंडा (Mock Egg) है। लेकिन ये प्रोटीन की सभी जरूरतों को पूरा करता है। उन्होंने बताया कि हमारा अंड़ा स्वास्थ्य जागरूक के मानकों पर भी खरा उतरा है। इसके अलावा ये खाने में भी स्वादिष्ट है।

कहीं पुराने अंडे तो नहीं खा रहे आप, लॉकडाउन में स्टोर किए गए अंडे आ रहे बाजार में, यूं परखें फ्रेशनेस

दशोरा ने बताया कि इस खेज के लिए आईआईटी दिल्ली को इनो वेट्स फॉर एसडीजी फॉर एसडीजी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार भी मिला है। जिसमें ईनाम के तौर पर 5000 अमेरिकी डॉलर मिले हैं। प्रो. काव्या दशोरा के मुताबिक आईआईटी दिल्ली के वैज्ञानिकों ने इस अंडे के अलावा चिकन के लिए मांस के एनालॉग भी विकसित किए हैं।

आप भी हैं अंडे के शौकीन तो भूलकर भी ना करें ये गलतियां, फायदे की जगह हो सकता है नुकसान

वहीं इस प्रतियोगिता का आयोजन कराने वाले यूएनडीपी ने बताया कि ये मॉक एग इनोवेशन का एक परफेक्ट इनोवेशन है। ये शाकाहारी होने के साथ प्रोटीन की सभी जरूरतों को पूरा करता है।

 

 
Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned