भारत-चीन के बीच 12 घंटे तक चली वार्ता, LAC के अन्य इलाकों से सैन्य वापसी पर चर्चा

Highlights

  • पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग जैसे क्षेत्रों से भी सैन्य वापसी पर चर्चा।
  • पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर से भारत और चीन के सैनिकों की वापसी जारी है।

नई दिल्‍ली। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर बातचीत जारी है। हाल ही में चीन ने एलएसी (LAC) से अपनी सेनाएं हटाने की प्रक्रिया शुरू की है। इस मामले में शनिवार को एक और दौर की सैन्य वार्ता हुई , जिसमें चर्चा का मुख्य बिंदु पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग जैसे क्षेत्रों से भी सैन्य वापसी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का काम हो सके।

रूस: इंसानों में बर्ड फ्लू वायरस का पहला मामला सामने आया, सात लोग संक्रमित

गौरतलब है कि पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर से भारत और चीन के सैनिकों के साथ हथियारों और अन्य सैन्य उपकरणों को पीछे हटाने की प्रक्रिया जारी है। इस दौरान कोर कमांडर स्तर की 10वें दौर की यह वार्ता हुई।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बैठक सुबह 10 बजे वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की तरफ मोल्दो सीमा क्षेत्र में शुरू हुई जो रात 9:45 बजे तक चली। करीब 12 घंटे चली इस बैठक में भारत ने इस दौरान क्षेत्र में तनाव को कम करने के लिए हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग जैसे क्षेत्रों से तेज गति से सैन्य वापसी पर जोर दिया।

दोनों देशों के बीच सैन्य गतिरोध बीते नौ माह से जारी है। समझौते के बाद दोनों पक्षों ने पैंगोंग झील के उत्तरी और दक्षिणी छोर क्षेत्रों से अपने-अपने सैनिकों की वापसी शुरू कर दी है। यहां पर मौजूद सैन्य उपकरणों के साथ बंकरों एवं अन्य निर्माण को भी हटाया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार 10वें दौर की वार्ता में चर्चा का मुख्य केंद्र उन इलाकों से भी वापसी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाना है। दोनों पक्ष तौर-तरीकों पर चर्चा करने को लेकर वार्ता कर रहे हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned