भारत ने पाक के साथ सीमापार व्‍यापार पर लगाई रोक, आतंकी कर रहे थे इसका गलत इस्‍तेमाल

भारत ने पाक के साथ सीमापार व्‍यापार पर लगाई रोक, आतंकी कर रहे थे इसका गलत इस्‍तेमाल

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Apr, 19 2019 07:54:26 AM (IST) | Updated: Apr, 19 2019 10:11:19 AM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

  • एलओसी के जरिए होने वाले व्‍यापार पर लगाई अस्‍थायी रोक
  • एलओसी वाले मार्गों का हो रहा था गलत इस्‍तेमाल
  • सप्‍ताह में चार दिन होता है इन मार्गों से व्‍यापार

 

 

नई दिल्‍ली। भारत सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर में सीमापार होने वाले व्‍यापार पर फिलहाल रोक लगा दिया है। इस बारे में गृह मंत्रालय की ओर से एक आदेश भी जारी किया गया है। गृह मंत्रालय ने अपने आदेश में कहा कि एक जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि प्रतिबंधित आतंकी संगठन व अलगाववाद समर्थित लोग व्‍यापार की आड़ में एलओसी के मार्गों का गलत इस्‍तेमाल कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- 'सबसे पहले अंबानी और नीरव जैसे लोग जाएंगे जेल'

खुफिया रिपोर्ट के बाद उठाया कदम

बता दें कि गृह मंत्रालय ने यह कार्रवाई उन रिपोर्टों के आधार पर की है, जिसमें कहा गया है कि एलओसी व्यापार करने वाले लोगों में बड़ी संख्या उनकी है, जो आतंकवाद और अलगाववाद को भड़काने में शामिल प्रतिबंधित आतंकी गुटों से संबंध रखते हैं। बताया गया है कि आतंकी संगठनों से जुड़े लोग एलओसी वाले मार्गों का इस्‍तेमाल अवैध हथियारों और मादक पदार्थों का तस्‍करी के लिए करते हैं।

बसपा प्रमुख मायावती ने BJP पर साधा निशाना, पूछा- 'सीएम योगी पर चुनाव आयोग इतना मेहरबान क्‍यों?

LOC के जरिए हफ्ते में 4 दिन होता है व्यापार

दरअसल, बारामुला में उड़ी के सलामाबाद और पुंछ जिले के दो केंद्रों से एलओसी पर व्यापार होता है। यह व्यापार हफ्ते में चार दिन होता है। एलओसी जरिए होने वाला यह व्यापार वस्तु विनिमय प्रणाली पर आधारित है और इसमें कोई सीमा शुल्क नहीं लगता है।

 

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लोगों से की मतदान की अपील, कहा- 'आपके वोट से हमारा लोकतंत्र और मजबूत होगा'

पुलवामा हमले में मारे गए थे 40 जवान

आपको बता दें कि पाकिस्‍तान की तरफ से भारी गोलाबारी के मद्देनजर भारत ने एलओसी पर व्‍यापार और लोगों के आवागमन को एक अप्रैल से स्‍थगित कर रखा है। हाल ही में पाकिस्‍तान से तरफ हुई गोलीबारी में पुंछ में सीमा सुरक्षा बल के अधिकारी, एक महिला और एक पांच वर्षीय लड़की सहित तीन लोगों की मौत हो गई थी। इससे पहले फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले में जम्‍मू और श्रीनगर राजमार्ग पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान मारे गए थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned