गलवान संघर्ष: चीन को मुंहतोड़ जवाब देने वाले भारतीय कैप्टन को मिला सम्मान

Highlights

  • 16 बिहार रेजिमेंट के कैप्टन सोइबा मनिंगबा रंगनामेई को किया सम्मानित।
  • बीते वर्ष 15 जून को गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सैनिकों के साथ हुआ था संघर्ष।

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में वास्तिवक नियंत्रण रेखा (LAC) के करीब चीनी सैनिकों की साजिशों को नाकाम कर देने वाले 16 बिहार रेजिमेंट के कैप्टन सोइबा मनिंगबा रंगनामेई को मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह ने सम्मानित किया है।

कोरोना वायरस के नए वैरियंट का पता लगाएगा जीनोम सीक्‍वेंसिंग, 900 सैम्‍पल भेजे गए

चीन के साथ हिंसक झड़प में इसी रेजिमेंट के अधिकांश जवान शामिल हुए थे। इनकी अगुआई कैप्टन सोइबा कर रहे थे। बीते वर्ष 15 जून को गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए,जबकि चीनी सैनिक भी काफी संख्या में मारे गए। हालांकि चीन की सरकार इस बात से इनकार करती रही। अभी तक चीन ने अधिकारिक रूप से इस बात को स्वीकार नहीं किया है कि इस संघर्ष मेंं उसके कई सैनिक मारे गए।

रूस की न्यूज एजेंसी तास के अनुसार भारत-चीन सेनाओं के बीच गतिरोध कम करने के प्रयासों के दौरान पूर्वी लद्दाख के गलवान में दोनों सेनाओं के बीच चले खूनी संघर्ष में चीन के करीब 45 सैनिक मारे गए थे।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned