Indian Railways: अब बिना ट्रेन बदले पहुंचेंगे Patna, महज ढाई घंटे में होगा सफर

-Indian Railways: अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले साल से नवादा से सीधे पटना ( Nawada to Patna Train ) तक सीधी ट्रेन शुरू हो सकती है।
-इससे लाखों यात्रियों को काफी फायदा होगा।
-रेल प्रशासन ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।
-नवादा से बिहारशरीफ ( Nawada to Bihar Sharif ) के बीच रेलखंड निर्माण के लिए सर्वेक्षण और डीपीआर ( DPR ) का काम पूरा हो गया है।

By: Naveen

Published: 02 Sep 2020, 11:55 AM IST

नई दिल्ली।
Indian Railways: अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले साल से नवादा से सीधे पटना ( Nawada to Patna Train ) तक सीधी ट्रेन शुरू हो सकती है। इससे लाखों यात्रियों को काफी फायदा होगा। रेल प्रशासन ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। नवादा से बिहारशरीफ ( Nawada to Bihar Sharif ) के बीच रेलखंड निर्माण के लिए सर्वेक्षण और डीपीआर ( DPR ) का काम पूरा हो गया है। रेलवे के सर्वेक्षण के अनुसार नवादा से बिहार शरीफ तक रेललाइन बिछाने में करीब 10 अरब का खर्च होंगे। प्रोजेक्ट के तहत नवादा और बिहारशरीफ के बीच करीब साढ़े 31 किलोमीटर रेललाइन बिछाई जाएगी।

दिल्ली मेट्रो को लेकर आज जारी होगी गाइडलाइंस, 7 सितंबर से शुरू होगा संचालन

सीधे पटना पहुंचेगी ट्रेन
रेलवे के मुताबिक, रेलखंड निर्माण पूरा होने के बाद नवादा सूबे की राजधानी पटना से सीधे ट्रेन लाइन का जुड़ाव होगा। फिलहाल नवादा से ट्रेन के माध्यम से पटना जाने के लिए किऊल होकर जाना पड़ता है, यह यात्रा करीब 205 किलोमीटर की पड़ती है। इससे यात्रा में भी काफी समय लगता है।

महज 110 किलोमीटर का होगा सफर
रेललाइन बिछाने का काम पूरा होने के बाद 205 किलोमीटर की लंबी यात्रा महज 110 किलोमीटर तक ही रह जाएंगी। इससे रेल और यात्रियों, दोनों को फायदा होगा। आपको बता दें कि काफी सालों से नवादा बिहार शरीफ के बीच रेल लाइन बिछाने की मांग उठी रही थी।

प्रोजेक्ट के तहत नवादा से बिहार शरीफ के बीच करीब 61 छोटे और पांच बड़े पुल भी बनाए जाएंगे, नदी नाले को पाटने के लिए 8 आरोबी क्रॉसिंग और सड़कों को पार करने के लिए 14 अंडरपास बनाए जाएंगे। नवादा से बिहारशरीफ तक करीब 31 किलोमीटर और बिहारशरीफ से पटना तक 79 किलोमीटर यानी कुल 110 किलोमीटर की दूरी ट्रेन से दो से ढाई घंटे में पूरी हो जाएगी।

बिहार में 15 सितंबर तक 20 जोड़ी ट्रेनें चलेंगी, Railway को और विशेष ट्रेनों के लिए केंद्र की हामी का इंतजार

केंद्रीय राज्यमंत्री का आश्वासन
बता दें कि क्यूल गया रेलखंड के दोहरीकरण और मेमो परिचालन का उद्घाटन करने आए रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने तत्कालीन सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, विधायक अनिल सिंह व जनसमूह की मांग पर बिहारशरीफ से नवादा तक रेललाइन बिछाने का आश्वासन दिया था।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned