भारत-म्यांमार की सेना ने चलाया 'ऑपरेशन सनशाइन-2', उग्रवादियों के ठिकानों को किया तबाह

  • कार्रवाई के दौरान पकड़े गए 70 से 80 उग्रवादी
  • भारतीय सेना की 2 बटालियन और म्यांमार की 5 ब्रिगेड शामिल
  • पहले भी भारत-म्यांमार की सेना ने मिलकर की थी कार्रवाई

नई दिल्ली। भारत और म्यांमार की सेना ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए उग्रवादी संगठनों के ठिकानों को तबाह कर दिया है। दोनों देशों की तरफ से यह सैन्य कार्रवाई पूवोत्तर के क्षेत्रों में अपनी-अपनी सीमाओं में की गई। इस दौरान सेना ने जान बचा कर भाग रहे कई उग्रवादियों को भी पकड़ा है।

'ऑपरेशन सनशाइन-2'

India-Myanmar army

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सेना की ओर से की गई इस कार्रवाई को 'ऑपरेशन सनशाइन-2' नाम दिया गया है। इस ऑपरेशन में भारतीय सेना की दो बटालियन शामिल थीं।

इनके अलावा विशेष सुरक्षा बल, असम राइफल्स के जवान भी इस सशस्त्र कार्रवाई में शामिल रहे। वहीं, म्यांमार की तरफ से उग्रवादियों के खात्मे में चार ब्रिगेड शामिल रहीं

70 से 80 उग्रवादी पकड़े गए

बता दें कि 'ऑपरेशन सनशाइन-2' के तहत भारतीय सेना ने लगभग 70 से 80 उग्रवादियों को पकड़ा। इन उग्रवादियों को पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, इस ऑपरेशन के तहत भारतीय सेना ने NSCN के कम से कम 7 से 8 कैंपों को पूरी तरह नष्ट कर दिया। वहीं, म्यांमार की सेना ने उल्फा केएलओ, एनईएफटी के ठिकानों को नष्ट किया।

सरकार ने कार्रवाई को बताया सफल!

India-Myanmar army

जानकारी के मुताबिक सरकारी सूत्रों ने दोनों सेना की ओर से की गई इस कार्रवाई को सफल बताया है। अधिकारी ने बताया कि 'ऑपरेशन सनशाइन-1' के दौरान भी दोनों देशों की सेनाओं के बीच ऐसा ही तालमेल देखने को मिला था। इस वजह से 'ऑपरेशन सनशइन-2' भी कामयाब रहा है।

पहले हुआ था 'ऑपरेशन सनशाइन-1'

गौरतलब है कि इसी साल भारतीय सेना और म्यांमार की सेना की ओर से संयुक्त रूप से 'ऑपरेशन सनशाइन-1' चलाया था। उस दौरान भारतीय सेना ने भारतीय सीमा के अंदर संदिग्ध अराकान विद्रोही कैंपों के खिलाफ कार्रवाई की थी।

Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned