Jammu and Kashmir में Corona Warriors को 5 से 10 हजार रुपए तक मिलेगी प्रोत्साहन राशि

प्रोत्साहन विशेष रूप से उन फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए हैं जो सीधे कोविड-19 रोगियों की सेवा करते हैं। इस निर्णय से 17,000 से अधिक कोरोना योद्धाओं को लाभ होगा, जिनमें निवासी डॉक्टर, चिकित्सा अधिकारी, पैरामेडिकल/नर्सिग स्टाफ, ड्राइवर और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी शामिल हैं।

जम्मू। Jammu and Kashmir के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को केंद्र शासित प्रदेश के स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग के कोविड योद्धाओं के लिए विशेष वित्तीय प्रोत्साहन को मंजूरी दे दी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग के सीमावर्ती कार्यकर्ताओं ने रोगियों के कीमती जीवन को बचाने के लिए चुनौतीपूर्ण कोविड महामारी में मूल्यवान सेवाएं दी हैं। हालांकि इन कोविड योद्धाओं द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की भरपाई नहीं की जा सकती है, फिर भी केंद्र शासित प्रदेश की सरकार ने उनके प्रयासों को प्रोत्साहित करने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ेंः- लगातार तीसरे दिन कोविड 19 के नए केसों में गिरावट, 2 करोड़ से पार गए कुल मामले

किनको कितनी प्रोत्साहन राशि
प्रोत्साहन विशेष रूप से उन फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए हैं जो सीधे कोविड-19 रोगियों की सेवा करते हैं। इस निर्णय से 17,000 से अधिक कोरोना योद्धाओं को लाभ होगा, जिनमें निवासी डॉक्टर, चिकित्सा अधिकारी, पैरामेडिकल/नर्सिग स्टाफ, ड्राइवर और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी शामिल हैं। निवासी डॉक्टरों, पीजी और चिकित्सा अधिकारियों के लिए प्रोत्साहन राशि प्रतिमाह 10,000 रुपये होगी, नर्सिग और पैरामेडिकल स्टाफ के लिए 7,000 रुपए प्रतिमाह और ड्राइवर, स्वीपर और अटेंडेंट के लिए हर महीने 5,000 रुपए।

यह भी पढ़ेंः- पीएम मोदी के बड़े ऐलान, 4 महीने तक टली नीट पीजी परीक्षा, कोविड ड्यूटी करने वालों को मिलेगी सरकारी नौकरी

3 मई को हुआ कोविड केसों में कितना इजाफा
जम्मू कश्मीर में बीते 24 घंटे में कोविड के नए केसों में 3733 का इजाफा देखने को मिला है। जिसके बाद कुल केसों की संख्या 1,87,219 हो गई है। जिसके बाद एक्टिव केसों की संख्या 34,567 हो गई है। बात अगर मौतों की करें तो 24 घंटे में 51 लोगों की मौत हो चुकी है और कुल मौतों की संख्या 2421 हो गई है। वहीं 3 मई को 1536 लोग रिकवर हुए हैं। प्रदेश में सबसे ज्यादा कहर श्रीनगर में देखने को मिला है। जहां पर कुल 10,143 सामने आ चुके हैं। जबकि जम्मू में 6675 और बारामुला में 2683 केस सामने आ चुके हैं।

Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned