Jammu-Kashmir : बालाकोट के डब्बी गांव से हथियारों की खेप बरामद, सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश

  • पुंछ के मेंढर सेक्टर से तीसरी बार हथियारों की खेप बरामद।
  • गजनबी फोर्स के ओवरग्राउंड वर्करों की सूचना पर मारा छापा।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पुंछ जिला के मेंढर इलाके में 28 दिसंबर को पकड़े गए आतंकवादियों के तीन ओवरग्राउंड वर्करों की निशानदेही पर हथियारों की लगातार तीसरी बड़ी खेप बरामद की है। आतंकवादी इन हथियारों से क्षेत्र के धार्मिक स्थलों को निशाना बनाकर साम्प्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने की फिराक में थे।

पुलिस ने चलाया था तलाशी अभियान

पुंछ के एसएसपी रमेश अंगराल ने बताया कि रविवार सुबह बालाकोट में एलओसी के निकट स्थित डब्बी गांव में तलाशी अभियान के दौरान हथियारों की बड़ी खेप बरामद हुई है। पुलिस की टीम मेंढर के एसडीपीओ जहीर जाफरी और सेना की मदद से डब्बी गांव में तलाशी अभियान चलाकर वहां से एक पिस्तौल, तीन मैगजीन, 35 गोलियां और पांच हथगोले बरामद करने में सफलता हासिल की है। एसएसपी ने बताया कि पकड़े गए आतंकियों की निशानदेही पर हथियारों की यह तीसरी बड़ी बरामदगी है। उन्होंने बताया कि गजनवी फोर्स पाक अधिकृत जम्मू-कश्मीर में सक्रिय है। यह आतंकी संगठन मुख्य रूप से धार्मिक स्थलों को अपना निशाना बनाता है। पकड़े गए आतंकियों ने बताया कि उनका मकसद पुंछ में स्थित मंदिरों व जम्मू संभाग के अन्य धार्मिक स्थलों में ग्रेनेड हमले कर आपसी साम्प्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ना था।

एसएसपी ने बताया कि गत 28 दिसंबर को बालाकोट क्षेत्र से तीन आतंकवादियों के मददगारों मुस्तफा खान पुत्र यासिर खान निवासी गालुटा, मोहम्मद यासिन पुत्र विलायत खान और रईस अहमद पुत्र मोहम्मद इकबाल निवासी डब्बी बालाकोट को पुलिस ने पकड़ा था। इन तीनों से कड़ी पूछताछ करने के बाद पूलिस इस साजिश की सूचना मिली थी।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned