राज्यपाल पर टिप्पणी को लेकर घिरे कमलनाथ, राज्य मंत्री ने माफी मांगने को कहा

Highlights

  • कमलनाथ ने कहा, राज्यपाल का भाषण प्रदेश की जनता को गुमराह करने वाला था।
  • राज्य मंत्री ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण पर कमलनाथ की टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण है।

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के विधानसभा बजट सत्र में दिए अभिभाषण पर सियासी बहस छिड़ गई है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी PCC प्रमुख नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने उन पर बड़ा बयान दे दिया है।

उन्होंने कहा कि राज्यपाल पर मुझे दया आती है। उन्हें ऐसा भाषण देना पड़ा जो मीडिया के लिए माना जाएगा। ये जनता के लिए नहीं है। राज्यपाल का भाषण प्रदेश की जनता को गुमराह करने वाला था।

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से बनाई दूरी, रेल परियोजनाओं के उद्घाटन कार्यक्रम में नहीं होंगी शामिल

इसे लेकर राज्य मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण पर कमलनाथ की टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण है। सारंग ने कहा कि उन्हें राज्यपाल पर दया आ रही है। उसे तुरंत स्पष्ट और माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने राज्यपाल के पद का अपमान किया है। ऐसे कद के नेता से इस तरह की टिप्पणी की उम्मीद नहीं की जाती है।

इसके साथ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यपाल ने अपने भाषण में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार का कोई भी उल्लेख नहीं किया। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम लिया। इससे मुझे लग रहा था जैसे वे लोकसभा में बैठा हूं।

कोरोना की उपलब्धियों पर दिए भाषण पर कमलनाथ से पूछा गया तो उन्होंने कहा–जब मैं कोरोना की बात करता था तब तो ये कहते थे कि कोरोना नहीं है। स्पीकर के चुनाव को लेकर पूर्व सीएम ने कहा कि हम BJP की नकल नहीं करना चाहते,जो कोई भी परंपरा का पालन नहीं करते।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned