scriptLunar eclipse 2021: What does the blood supermoon mean? | Lunar eclipse 2021: 26 मई को खूनी लाल रंग का दिखाई देगा चांद, जानिए क्या हैं 'Red Blood Supermoon' के मायने | Patrika News

Lunar eclipse 2021: 26 मई को खूनी लाल रंग का दिखाई देगा चांद, जानिए क्या हैं 'Red Blood Supermoon' के मायने

locationनई दिल्लीPublished: May 22, 2021 09:30:13 pm

Submitted by:

Mohit sharma

26 मई की रात को लगने साल का पहला चंद्रग्रहण कई मायनों में अहम होगा

photo_2021-05-22_21-27-16.jpg

नई दिल्ली। साल का पहला चंद्रग्रहण ( Lunar eclipse 2021 ) 26 मई की रात को लगने जा रहा है। कई मायनों में अहम ये चंद्र ग्रहण सुपरमून ( Supermoon ) तो कहलाया ही जाएगा, साथ ही यह खूनी लाल यानी ब्लड रेड रंग का भी होगा। यह संयोग कई सालों बाद आता है। वैज्ञानिक भाषा में इसको लूनर इवेंट कहा जा रहा है। इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि ये सुपरमून होगा, ग्रहण होगा और इसका रंग खूनी लाल भी होगा। चूंकि यह एक बड़ा संयोग है, ऐसे में इसके कई मतलब निकाले जा रहे हैं। इस चंद्र ग्रहण से निकलने वाले कुछ मतलबों से आज हम आपको रूबरू कराते हैं।

क्या भारत में आने वाला है कोरोना संक्रमण का इस इससे भी बुरा दौर? पढ़िए IMF की रिपोर्ट

क्या होता है सुपरमून?

चांद जब पृथ्वी के बेहद करीब होता है तो उसका आकार 12 प्रतिशत तक बड़ा दिखाई दता है। यूं तो सामान्यत: पृथ्वी से चांद की दूरी 406,300 कि लोमीटर होती हेै, लेकिन इस खास मौके पर यह दूरी घटकर 357,700 किलोमीटर रह जाती है। यही वजह है कि रोजाना के मुकाबले इस दिन चांद बड़ा दिखाई देता है। इस दिन चांद अपनी कक्षा में चक्कर लगाते-लगाते पृथ्वी के काफी करीब आ जाता है। नजदीक आने की वजह से इसकी चमक काफी बढ़ जाती है।

VIDEO: डॉक्टर बोले- 'ब्लैक फंगस' का इलाज संभव, लेकिन बरतनी होंगी ये सावधानी

क्यों होता है चंद्र ग्रहण?

जब पृथ्वी की छाया चांद को पूर्ण या आंशिक रूप से ढक लेती है तब चंद्र ग्रहण पड़ता है। ऐसा पृथ्वी के चांद और सूरज के बीच आ जाने से होता है। क्योंकि चांद अपनी कक्षा में पांच डिग्री तक झुका हुआ है, इसलिए पूरा चांद धरती की छाया या कुछ भाग ऊपर रहता है या थोड़ा नीचे। जब चांद धरती और सूरज के ही हॉरिजोंटल प्लेन पर रहता है तो उस समय पूर्ण चंद्र ग्रहण होता है।

कोरोना से लड़ाई में PM मोदी नया मंत्र, 'जहां बीमार, वहीं उपचार' से हारेगा अदृश्य दानव

क्यों होता है खूनी लाल रंग?

धरती की छाया जब चांद को पूरी तरह से ढक लेती है तो इस पर सूरज की रोशनी नहीं पड़ पाती। जिसकी वजह से यह घनघोर अंधेरे में चला जाता है। क्योंकि चांद कभी पूरी तरह से ब्लैक नहीं होता, इसलिए यह रेड दिखाई देने लगता है। इसका एक कारण यह भी है कि सूरज की रोशनी में हर प्रकार के विजिबल रंग होते हैं। जबकि पृथ्वी के वायुमंडल में शामिल गैस इसको ब्लू कलर का दिखाती हैं। रेड कल की वेवलेंथ जब इसको पार करती हैं तो आकाश नीला और सूर्याेदय और सूर्यास्त रेड नजर आता है। यही चंद्र ग्रहण के समय भी होता है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'द कश्मीर फाइल्स' को IFFI ज्यूरी ने बताया 'वल्गर प्रोपगंडा', अनुपम खेर ने कहा-' शर्मनाक'नवजोत सिंह सिद्धू को मिलेगी बड़ी राहत! जल्द मिल सकती है जेल से रिहाईगुजरात में आज शाम थम जाएगा पहले चरण का चुनाव प्रचार, बीजेपी और आप की ताबड़तोड़ रैलियांIND vs NZ : तीसरे वनडे में इस दिग्गज खिलाड़ी का बाहर होना तय, देखें संभावित प्लेइंग इलेवनVideo: जानिए कैसे और क्यों बढ़ रही सरकार व सुप्रीम कोर्ट की तनातनीगुजरात: जूनागढ़ में जहरीली शराब पीने से 2 की मौत, एक की हालत गंभीरगोमती रिवर फ्रंट स्कैम: CBI की राडार पर फिर आए शिवपाल, निशाने पर IAS भीबच्चियों से रेप के मामले यूपी में सबसे ज्यादा, जानिए कितनों को मिल पाती है सजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.