महाराष्‍ट्र: पांच माह में कोरोना के 11 हजार से अधिक नए मामले, 38 लोगों की मौत

Highlights

  • ठीक होने वालों का आंकड़ा 20,68,044 तक पहुंच गया है।
  • औरंगाबाद में 11 मार्च से नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है।

मुंबई। महाराष्ट्र में कोविड-19 से संक्रमितों का आंकड़ा लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र में करीब पांच माह बाद एक दिन में 11 हजार से अधिक मामले दर्ज किए जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीते 24 घंटे में महाराष्ट्र में 11,141 मामले अब तक सामने आ चुके हैं। इस दौरान 38 लोगों की मौत हुई।

West Bengal: ब्रिगेड ग्राउंड में गरजे पीएम, कहा-ममता सिर्फ एक ही भतीजे की बुआ तक सीमित क्यों?

महाराष्ट्र में 16 अक्टूबर को काफी अधिक मामले सामने आए थे। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीते एक दिन में 6,013 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है। राज्य में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 22,19,727 तक पहुंच चुका है। वहीं ठीक होने वालों का आंकड़ा 20,68,044 तक पहुंच गया है।

कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते हुए मामलों के कारण औरंगाबाद में 11 मार्च से नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है। महाराष्ट्र कैबिनेट के मंत्री एकनाथ शिंदे ने रविवार को इसका ऐलान किया। शिंदे के अनुसार कोविड—19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर संभाजीनगर (औरंगाबाद) में 11 मार्च से 4 अप्रैल तक रात 9 बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा। वहीं सप्ताहिक संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा। इस दौरान सभी स्कूल, कॉलेज, शादी के हॉल बंद रहेंगे।

लोगों में बचाव के प्रति उदासीनता

महाराष्ट्र में बढ़ रहे मामलों को लेकर केंद्र ने शनिवार को महाराष्ट्र में कोरोना से बचाव के प्रति उदासीनता और बीमारी का डर नहीं होना बताया है। साथ ही उसने राज्य सरकार से कहा कि इसे लेकर कोताही नहीं बरतें। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की बीमारी का इलाज करा रहे लोगों की संख्या 90 हजार से अधिक है।

Coronavirus in india coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned