नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान चोटिल हुईं ममता बनर्जी, इलाज के लिए कोलकाता पहुंचीं

Highlights

  • ममता बनर्जी ने चोटिल होने के बाद आरोप लगाया विरोधियों ने साजिश रची है।
  • ममता ने कहा, जानबूझकर उनका पैर कुचला गया है। उन्हें बहुत दर्द हो रहा है।

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बुधवार को नंदीग्राम सीट पर अपना नामांकन दर्ज कराया। इसके बाद वे चुनाव प्रचार के निकलीं। मगर शाम होते होते खबर आई है कि चुनाव प्रचार के दौरान वे चोटिल हो गई हैं।
उनके बांए पैर में गंभीर चोट लगी है ऐसे में उन्हें वापस कोलकाता लाया गया है। जहां एसएसकेएम अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया।

ये भी पढ़ें: बंगाल चुनाव : ममता बनर्जी ने चंडी पाठ गलत पढ़ा, वोटों के लिए कर रही हैं नाटक - शुभेंदु अधिकारी

ममता बनर्जी ने चोटिल होने के बाद आरोप लगाया विरोधियों ने साजिश रच उन पर हमला किया है। उन्हें मंदिर से निकलते वक्त चार लोगों ने धक्का दिया। वे इस साजिश की शिकायत चुनाव आयोग से करेंगी। ममता का कहना है कि किसी ने जानबूझकर उनका पैर कुचला दिया है। उन्हें बहुत दर्द हो रहा है। ममता बनर्जी के अनुसार वो जब मंदिर से निकलकर अपनी कार की तरफ जा रही थीं तब चार लोगों ने उन्हें धक्का दे दिया अचानक से गाड़ी का दरवाजा बंद कर दिया और वो चोटिल हो गईं।

ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि जब उनके साथ ये घटना हुई तब वहां पर स्थानीय पुलिस का कोई कर्मचारी अधिकारी उपस्थित नहीं था। ये निश्चित तौर पर उनके खिलाफ साजिश है। इस तरह की बड़ी सभा में चार-पांच घंटे तक कोई पुलिस अधिकारी मौजूद नहीं था।

ममता बनर्जी के कोलकाता पहुंचने से पहले उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी स्थिति का जायजा लेने अस्पताल पहुंच चुके हैं। ममता बनर्जी के इलाज के लिए अस्पताल में सात डॉक्टरों की टीम का गठन हुआ है। अस्पताल के बाहर भारी सुरक्षाबल को तैनात किया गया है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned