महाराष्ट्रः मराठा संगठनों ने आरक्षण को लेकर किया बंद का ऐलान, मुस्लिम संगठनों का भी साथ

महाराष्ट्रः मराठा संगठनों ने आरक्षण को लेकर किया बंद का ऐलान, मुस्लिम संगठनों का भी साथ

सरकारी नौकरी में आरक्षण को लेकर मराठा संगठनों ने किया महाराष्ट्र बंद का ऐलान। सुरक्षा के लिहाज से सुरक्षा चाक चौबंद।

मुंबई। महाराष्ट्र में आरक्षण की आग एक बार फिर सुलग गई है। आज महाराठ संगठनों ने एक बार फिर प्रदेश बंद का ऐलान किया है। दरअसल मराठा संगठन सरकारी नौकरी में आरक्षण की मांग कर रहा है। मराठ संगठनों के महाराष्ट्र बंद के ऐलान के चलते प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई है ताकि किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचा जा सके। मराठा क्रांति मोर्चा ने ऐलान किया है कि वह मुंबई सबअर्बन कलेक्टर के बांद्रा स्थित कार्यालय के सासमने प्रदर्शन करेगा।

सरकार पर बढ़ा दबाव
दरअसल पिछले कुछ दिनों से लगातार मराठा संगठन सरकारी नौकरी में आरक्षण को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। एक महीने के अंदर ये दूसरी बार बंद का ऐलान किया गया है। पिछले महीने जिस तरह से प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में आरक्षण की मांग को प्रदेशभर में प्रदर्शन किए गए उससे सरकार और प्रशासन दोनों सकते में हैं। खास तौर पर आर्थिक राजधानी में हुई आग जनी की घटनाओं और तोड़फोड़ के चलते सरकार पर इस आंदोलन और बंद को लेकर काफी दबाव है। आज होने वाले महाराष्ट्र बंद को लेकर भी सरकार के सामने चुनौती है कि वो कानून व्यवस्था को कायम रखे।

 

सुबह 8.30 बजे तक नहीं दिखा बंद का असर
हालांकि सुबह बंद का कोई खास असर प्रदेश के कई इलाकों में देखने को नहीं मिला। खास तौर पर माया नगरी में गुरुवार की सुबह भी आम सुबह की तरह की दिखाई दी। लेकिन प्रशासन सुरक्षा के लिहाज से पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दिया।

नवी मुंबई और ठाने में नहीं होगा बंद
मराठा क्रांति मोर्चा के अलावा अन्य मराठा संगठनों ने भी महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों और मुंबई में बंद का ऐलान किया है। हालांकि नवी मुंबई और थाणे में यह बंद नहीं होगा।


मुस्लिम संगठनों का समर्थन
सरकारी नौकरियों में आरक्षण को लेकर किए जा रहे मराठा संगठनों के बंद के ऐलान को मुस्लिम संगठनों ने भी समर्थन दिया है। मुस्लिम संगठनों महाराष्ट्र मुस्लिम एकता परिषद और जमाएत उलमा ए महाराष्ट्र ने इस बंद के साथ हैं।


संवेदनशील इलाकों में पुलिस कंपनी तैनात
बंद को देखते हुए तमाम संवेदनशील इलाको में आरएएफ की छह कंपनियां और सीआईएसएफ, राज्य रिजर्व पुलिस की एक-एक कंपनी को तैनात कर दिया गया है। तमाम जगहों पर पुलिस की मदद के लिए होमगार्ड को भी तैनात किया गया है। किसी भी जगह पर प्रदर्शनकारी कानून को अपने हाथ पर ना लेने पाएं इसके पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वह शांति बनाए रखें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned