कोरोना वैक्सीन की अब तक 47.02 करोड़ डोज दी गई, लगातार बढ़ते केस पर सरकार ने लिया एक्शन

केन्द्र सरकार ने सावधानी बरतते हुए कोरोना से अत्यधिक प्रभावित दस राज्यों के 46 जिलों को कड़े कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए हैं।

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने कहा है कि देशव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक वैक्सीन की 47.02 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। इसी तरह अब तक कुल 46.82 करोड़ नमूनों की जांच की गई है।पूरे देश में अब तक कुल 3,08,20,521 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं जबकि पिछले 24 घंटों के दौरान 39,258 मरीज ठीक हुए। रिकवरी दर भी बढ़कर 97.36 प्रतिशत हो गई है जो हालातों में कुछ सुधार का संकेत दे रहा है।

लगातार पांचवे दिन भी 24 घंटों में 40 हजार से अधिक मामले सामने आए
भारत में पिछले 24 घंटों में 41,831 मामले सामने आए हैं। इस तरह भारत में वर्तमान में कोरोना के कुल एक्टिव केस 4,10,952 हैं। फिलहाल साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे बनी हुई है, वर्तमान में 2.42 % है। दैनिक पॉजिटिविटी दर 2.34 %, लगातार 5 % से कम बना हुआ है। भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने त्वरित एक्शन लेने शुरू कर दिए हैं। वर्तमान में कोविड-19 के रोजाना लगभग 40 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं।

10 राज्यों के 46 जिलों को कंटेनमेंट जोन बनाने के आदेश दिए
कुछ राज्यों जैसे केरल, महाराष्ट्र में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। ऐसे में केन्द्र सरकार ने सावधानी बरतते हुए कोरोना से अत्यधिक प्रभावित दस राज्यों के 46 जिलों (जहां पर कोरोना पॉजिटिविटी रेट दस फीसदी से ज्यादा है।) को कड़े कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में शनिवार को दिल्ली में एक हाई लेवल मीटिंग भी बुलाई गई जिसमें कोरोना से प्रभावित राज्यों महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, असम, तमिलनाडु, ओड़िशा, मिजोरम, आंध्रप्रदेश तथा मणिपुर के वर्तमान हालातों पर चर्चा की गई।

यह भी पढ़ें : दिल्ली में कोरोना टीकाकरण एक करोड़ पार, सीएम केजरीवाल ने कहा- शुक्रिया

इन सभी स्थानों पर भीड़-भाड़ को कम करने तथा लोगों की आवाजाही को कम करने के लिए केन्द्र सरकार ने तुरंत प्रभाव से कड़े प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इन दस राज्यों में लगभग 80 फीसदी कोरोना संक्रमित मरीज होम आइसोलेशन में हैं। केन्द्र सरकार की चिंता का कारण भी यही है कि क्या ऐसे मरीजों पर राज्य सरकारें पर्याप्त नजर रख पा रही हैं कि वे अपने घर से बाहर निकल कर कोरोना ना फैला सकें।

यह भी पढ़ें : पेट्रोल-डीजल के दाम में आज भी राहत, जानिए आज कितने रुपए लीटर बिक रहा

इन राज्यों में हैं सबसे बुरे हालात
वर्तमान में देखा जाए तो पूरे देश में सर्वाधिक बुरे हालात मिजोरम में है जहां पॉजिटिविटी रेट 22 प्रतिशत से अधिक है। इसके बार मणिपुर में 16.5 फीसदी तथा केरल में 12 फीसदी पॉजिटिविटी रेट है। अन्य राज्यों में इन तीन राज्यों के मुकाबले काफी कम पॉजिटिविटी रेट है जिसक कारण वहां हालात इतने भयावह नहीं हैं जितने यहां पर हैं। भविष्य में कोरोना बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए केन्द्र सरकार अभी से ऐहतियातन कदम उठा रही हैं।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned