20 हजार से अधिक निजी टीकाकरण केंद्रों पर लगेंगे टीके, सरकारी अस्‍पतालों में फ्री होगी वैक्‍सीन

Highlights

  • टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण में चुकानी होगी कोरोना वैक्‍सीन की कीमत।
  • यह कीमत कितनी होगी, यह स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय तय करके बताएगा।

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण अभियान को लेकर बुधवार को मीडिया के सामने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 1 मार्च से, 60 वर्ष से अधिक आयु वाले और 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों को 10 हजार सरकारी और 20 हजार से अधिक निजी टीकाकरण केंद्रों पर टीका लगाया जाएगा। वैक्सीन सरकारी केंद्रों पर मुफ्त दी जाएगी।

मोटेरा में दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम का नाम हुआ नरेंद्र मोदी स्टेडियम, राष्ट्रपति ने किया उद्घाटन

कैबिनेट ब्रीफिंग के दौरान, जावड़ेकर ने बताया कि सरकारी केंद्रों पर टीकाकरण मुफ्त में होगा। हालांकि निजी सेंटर्स/हॉस्पिटल्‍स में जाने पर वैक्‍सीन की कीमत चुकानी होगी।

यह कीमत कितनी होगी, यह स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय तय करके बताएगा। टीकाकरण के दूसरे चरण में 45 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले वे लोग भी शामिल होंगे जिन्‍हें को-मॉर्बिडिटीज हैं। को-मॉर्बिडिटीज ऐसा वर्ग हैं, जिसकी मेडिकल हिस्‍ट्री वाले आवेदकों के साथ अलग तरह से व्‍यवहार किया जाएगा।

ऐसे लोगों को पहले ही सब-स्टैंडर्ड लाइफ कैटेगरी में रखा जा रहा है। कोरोना संक्रमित हो चुके अनफिट लोगों को को-मॉर्बिडिटी के समतुल्‍य माना जा रहा है और एक्‍स्‍ट्रा मॉर्टेलिटी चार्ज लिया जा रहा है।

COVID-19 COVID-19 virus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned