निर्भया को याद कर नम हुईं पिता बद्रीनाथ की आखें- 'उसकी शादी न देख पाने का अफसोस रहेगा'

  • निर्भया के दोषियों को फांसी के फंदे पर लटकाया गया
  • बेटी निर्भया को याद कर भावुक हुए पिता बद्रीनाथ

नई दिल्ली। निर्भया के गुनाहगारों को फांसी लग चुकी है। अब दुनिया में न निर्भया है और न उसके गुनहगार। बेटी के दोषियों को फांसी दिए जाने के बाद जहां निर्भया के पिता के चेहरे पर संतोष के भाव दिखे, वहीं एक अजीब सी कसक की चुभन भी नजर आई।

इस बीच निर्भया के पिता ने एक न्यूज चैनल के साथ बातचीत में अपने दिल की बात साझा की। उन्होंने कहा कि निर्भया को लेकर हमनें ढेर सारे सपने देखे थे।

लेकिन निर्भया की तरह सारे सपने भी उनका साथ छोड़ गए।

 

ffff_1.png

निर्भया को याद कर भावुक हुए पिता बद्रीनाथ ने कहा कि जिसको गोद में खिलाया, प्यार से पाला वह घर से ऐसे विदा लेगी ऐसा कभी नहीं सोचा था।

हमने निर्भया की शादी को लेकर बड़े सपने देखे थे। लेकिन अब हमें केवल उसकी तकलीफ और दर्द से कराहता उसका चेहरा ही याद है।

बद्रीनाथ ने कहा कि मेरी छोटी बहन नाती—नातिन की हो गई और हम आज भी वहीं खड़े हुए हैं।

 

ggggggg.png

निर्भया के पिता ने बताया कि हम जब किसी रिश्तेदार के यहां जाते हैं तो वहां खुशी के माहौल में भी हमारी आंखें नम हो जाती हैं

। कभी भी जाते हैं वहां का माहौल देख निर्भया की याद आ जाती है। उन्होंने बताया कि बेटी के भविष्य को लेकर जो सपने देखे गए सब के सब चकनाचूर हो गए।

न हम उसकी शादी कर पाए और न ही उसका फलता—फूलता परिवार देख पाए।

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned