तूफान 'तौकते' का असर: महाराष्ट्र में आज भी नहीं मिलेगी वैक्सीन, सभी कोविड टीकाकरण केंद्र बंद

मुंबई नगरपालिका ने तूफान को देखते हुए 17 मई को तीसरे दिन भी रोके रखने का ऐलान किया। चक्रवातीय तूफान की चेतावनियों को ध्यान में रखते हुए बीएमसी की ओर से यह फैसला लिया गया है।

नई दिल्ली। महामारी कोरोना वायरस के बीच अब देश पर चक्रवाती तूफान तौकते का भी खतरा मंडराने लगा है। मौसम विभाग ने कहा है कि रविवार तक यह बेहद ताकतवर चक्रवाती तूफान के रूप में बदल गया है। इस तूफान को लेकर पांच राज्यों में में अलर्ट जारी किया गया है। तौकते चक्रवाती तूफान का जनजीवन के साथ वैक्सीनेशन पर असर पड़ रहा है। मुंबई नगरपालिका ने तूफान को देखते हुए 17 मई को तीसरे दिन भी रोके रखने का ऐलान किया। चक्रवातीय तूफान की चेतावनियों को ध्यान में रखते हुए बीएमसी की ओर से यह फैसला लिया गया है।

यह भी पढ़ें :— 2 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों पर होगा कोरोना वैक्सीन का ट्रायल, भारत बायोटेक को मंजूरी

मंगलवार से शुरू होगा वैक्सीनेशन
मुंबई महानगरपालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा कि भारत मौसम विज्ञान विभाग की चक्रवात तूफान की चेतावनी को देखते हुए सोमवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीनेशन का कार्यक्रम बंद रखा जाएगा। बीएमसी ने शुक्रवार को ऐलान किया था कि चक्रवातीय तूफान के खतरे को देखते हुए 15 और 16 मई को वैक्सीनेशन का कार्यक्रम बंद रखा जाएगा। इसके बाद बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने यह जानकारी दी कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम की बंदी एक दिन और आगे बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि चक्रवात को ध्यान में रखते हुए 15, 16 और 17 मई को टीकाकरण नहीं होगा। इस दौरान सभी टीकाकरण केंद्र बंद रहेंगे। अब यह अभियान 18 से 20 मई के बीच तय कार्यक्रमों के तहत ही वैक्सीनेशन जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें :— Patrika Positive News: स्वयंसेवी संस्थाओं ने खोला दूसरा कोविड केयर सेंटर, 24 घंटे डॉक्टर—ऑक्सीजन सहित इलाज की सभी व्यवस्थाएं

महाराष्ट्र को हर महीने मिलेंगे डेढ़ करोड वैक्सीन
आपको बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया 20 मई के बाद महाराष्ट्र सरकार को हर महीने डेढ़ करोड वैक्सीन उपलब्ध करवाने का वादा किया है। पिछले दिनों महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीनेशन पर निर्णय वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर लिया जाएगा। 12 मई को वैक्सीन की कमी के संकट को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने तय किया था कि राज्य के पास वैक्सीन के जितने भी डोज हैं, उन्हें 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned