Coronavirus: फ्लाइट्स पर पाबंदी लगाने को लेकर सरकार की कोई मंशा नहीं, 100 फीसदी सेवाएं अभी नहीं होंगी शुरू

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि 1 अप्रैल से सभी सेवाओं को दोबारा शुरू करने की योजना को टाल दिया गया है।

नई दिल्ली। नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) का कहना है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण फ्लाइट सेवाओं पर रोक लगाने की सरकार की कोई मंशा नहीं है। पुरी का कहना है कि कोविड-19 की दूसरी लहर (Second Wave of Covid-19) के बीच सरकार की फ्लाइट सेवाओं पर रोक लगाने का विचार बिल्कुल नहीं है। हालांकि 1 अप्रैल से सभी सेवाओं को दोबारा शुरू करने की योजना को बढ़ रहे मामलों की वजह से स्थगित कर दिया गया है।

गौरतलब है कि बीते साल की शुरूआत में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लगाए गए लॉकडाउन के कारण फ्लाइट सेवाओं पर मार्च 2020 से 25 मई 2020 तक रोक लगाई गई थी। पुरी के अनुसार आगे की सेवाओं को वे दोबारा से शुरू कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी का बड़ा बयान, केंद्र की Air India में 100% विनिवेश की तैयारी

उनका मकसद था कि 100 फीसदी सेवाओं को 1 अप्रैल से शुरू कर दिया जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि पहले से ही 80 फीसदी फ्लाइट्स उड़ान भर रही हैं। मगर अब कोरोना वायरस की दूसरी लहर की वजह से हम 100 फीसदी सेवाओं को अभी नहीं शुरू कर सकेंगे।

सही व्यवहार नहीं करने वाले यात्री होंगे ब्लैकलिस्ट

पुरी के अनुसार दूसरी लहर के संक्रमणों का पता लगाने के लिए एयरपोर्ट प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं। वे ऐसे सभी यात्रियों को ब्लैकलिस्ट करें जो कोरोना वायरस में उपयुक्त व्यवहार नहीं कर रहे हैं। पुरी के अनुसार उन्होंने एयरपोर्ट संचालकों और एयरलाइंस से कहा है कि जो भी यात्री मास्क नहीं पहन रहे या फिर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें नो फ्लायर्स लिस्ट में डाल दिया जाए।

64 दिनों के अंदर वित्तीय बोलियों को बंद कर देगी

एयर इंडिया के निजीकरण पर पुरी ने कहा कि इसकी प्रक्रिया मई के अंत तक तक पूरी हो जाएगी। पुरी ने मीडिया को बताया कि "सोमवार को हुई एक बैठक में, यह निर्णय लिया है कि सरकार 64 दिनों के अंदर वित्तीय बोलियों को बंद कर देगी।" इसके साथ उन्होंने कहा कि इसके लिए कई बोलियां भी लगाई गई थीं। अभी कुछ को शॉर्टलिस्ट भी कर लिया गया है।

COVID-19
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned