PM के टीका लेने पर ओवैसी ने साधा निशाना, कहा- ‘64 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए फायदेमंद नहीं वैक्सीन’

  • सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने हैदाराबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोविशील्ड लिए जाने पर निशाना साधा है
  • उन्होंने कहा कोविशील्ड (Covishield) वैक्सीन 64 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए कारगर नहीं है,
  • इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोवैक्सीन (Covaxin) टीका लिया है

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोनावायरस वैक्‍सीन का पहला शॉट लगवाया है।प्रधानमंत्री ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS Delhi) में कोविड-19 टीके की पहली खुराक ली। इसके साथ ही उन्होंने सभी लोगों से टीका लगवाने की अपील की, जो इसके योग्य हैं।पीएम मोदी ने कोवैक्‍सीन लगवाई है, जिसे लेकर कई लोगों के मन में अब भी काफी हिचक है।

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन बोले- ‘टीका लेने के 4 दिन बाद किसी की मौत हो तो वैक्सीन जिम्मेदार नहीं’

पीएम के इस फैसले की कई विपक्षी दलों के नेता उनकी तारीफ की। लेकिन कई नेता ऐसे भी हैं जो उनपर तंज कस रहे हैं। इसी में एक नाम आईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख और हैदाराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी का भी है।

दरअसल, असदुद्दीन ओवैसी ने हैदाराबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जर्मन सरकार ने कहा था कि कोविशील्ड (Covishield) वैक्सीन 64 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए कारगर नहीं है। यही वजह है मोदी कोवैक्सीन का टीका लिया है।

उन्होंने कहा कि अगर ऐसा है तो साफ बता देना चाहिए कि कोविशील्ड टीका कारगर नहीं है। ओवैसी ने बताया कि इत्तेफाक है कि प्रधानमंत्री ने कोवैक्सीन लिया है, सरकार से हम पूछना चाहते हैं कि हमारे इस कन्फ्यूजन को दूर कर दें।

मीडिया से बात करते हुए ओवैसी ने कहा, हर देशवासी को वैक्सीन लेना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कोविशील्ड की बजाय कोवैक्सीन लिया। उन्होंने ऐसा क्यों किया।

Covid-19 : केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कोरोना वैक्सीन को बताया हनुमान जी की संजीवनी बूटी

उन्होंने आगे कहा, ‘कोवीशील्ड को लेकर जर्मनी की सरकार ने कहा है कि ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका जिसका अधिकार उन्होंने भारत में सीरम को दिया है। वो 18-64 वर्ष आयु के लिए अच्छा है, 64 से ऊपर आयु के लिए उतना असरदार नहीं है। हम मोदी सरकार से पूछना चाहते हैं कि क्या ये बात सच है।’

बता दें आज यानी एक मार्च से दूसरे फेज के टीकाकरण अभियान शुरू हुआ है। इसें वरिष्‍ठ नागरिकों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned