Patrika Positive News: कोरोना से मित्र की मौत के बाद जरूरतमंदों के लिए बनाया ट्रस्ट, एंबुलेंस सेवा शुरू की

Patrika Positive News: दोस्त की मौत के दस दिनों के अंदर एक एंबुलेंस खरीदी और जनसेवा को समर्पित कर दिया। मृत दोस्त के बेटे ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना।

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बम्हनीडीह में कोरोना के कारण बीते दिनों कई मौतें हुईं। इस दौरान कुछ युवाओं ने मिलकर एबुलेंस सेवा शुरू करवाई है। इसके साथ एक चैरिटेबल ट्रस्ट की भी स्थापना की है। कुछ दिनों पूर्व बम्हनीडीह के व्यवसायी संतोष अग्रवाल (38) की कोरोना से मौत हो गई। अचानक हुई मौत के कारण उनके मित्रों को गहरा धक्का लगा। उन्होंने समाजसेवा की ठानी और दस दिन के अंदर एक एंबुलेस खरीदी और जनसेवा को समर्पित कर दिया। इसके साथ एक चेरिटेबल ट्रस्ट भी बनाया। पत्रिका पॉजिटिव न्यूज (Patrika Postive News) के जरिए हम आपकों ऐसे लोगों से रूबरू करा रहे हैं जो इस संकट की घंड़ी में पीड़ितों की सेवा में जुटे हुए हैं।

Read More: Patrika Positive News: अस्पताल जाने के लिए नहीं था रास्ता, युवाओं ने बनाई सड़क

व्यवसायी संतोष अग्रवाल बीते दिनों कोरोना से संक्रमित हुए थे। घर में उनका इलाज चल रहा था। मगर आठ दिनों के अंदर उनकी तबीयत खराब होने लगी। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। मगर सही समय पर एंबुलेंस न मिलने के कारण उनकी मौत हो गई।

मृतक के 12 वर्षीय पुत्र ने एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाई

उनके मित्रों का कहना है कि संतोष के जाने के बाद वे काफी दुखी थे। इसके बाद उन्हें विचार आया कि लोग सही समय पर इलाज न मिलने के कारण मर रहे हैं। सुविधाओं के अभाव में मरीज छटपटा रहे हैं। कोरोना महामारी में एम्बुलेंस की जरुरत देखते हुए स्व. संतोष अग्रवाल की स्मृति में एक एंबुलेंस समर्पित किया गया। एंबुलेंस को उसके 12 वर्षीय पुत्र अंशु अग्रवाल ने हरी झंडी दिखाकर जन सेवा के लिए रवाना किया। मित्रों का कहना है कि अभी ये शुरुआत है। आगे वे और एंबुलेंस का इंताम करेंगे। इसके साथ ट्रस्ट के जरिए आम लोगों की सेवा करेंगे।

Read More: patrika positive news कोरोना संकट में जरूरतमंदों को खाना और रक्त दोनों की पूर्ति कर रहे 'चंबा सेवियर्स

महामारी में हर किसी को मिलें स्वास्थ्य सुविधाएं

दोस्तों ने अपनी एक टीम तैयार की है। उनकी टीम जरूरतमंदों तक दवा और बेड मुहैया कराने का काम कर रही है। एबुलेंस की मदद से लोगों को तुरंत अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है। दोस्तों का कहना है कि हम चाहते है कि इस महामारी में हर किसी को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध होती रहें। स्व.संतोष अग्रवाल चैरिटेबल ट्रस्ट की मदद से लोगों को सरकारी सेवाओं का लाभ देने की भी कोशिश हो रही है।

patrika positive news
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned