इमरजेंसी में लोगों के मौलिक अधिकार को छीना गया, राहुल को हर पहलू पर सोचना चाहिए : नीतीश

Highlights

  • राहुल गांधी ने मंगलवार को आपातकाल को एक गलती बताया।
  • नीतीश ने कहा कि सभी चीजों के बारे में सोचना चाहिए, बोलना चाहिए।

नई दिल्ली। वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) द्वारा लगाया गया आपातकाल एक “गलती” बताया। कांग्रेस नेता ने कहा कि उस दौरान जो भी हुआ, वह “गलत” था। हालांकि वर्तमान परिप्रेक्ष्य से बिलकुल अलग था, क्योंकि कांग्रेस ने कभी भी देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास नहीं किया और आज जो हो रहा है, वो उससे भी बुरा है।

RSS देशभक्ति की पाठशाला है, राहुल गांधी को समझने में बहुत देर लगेगीः Prakash Javadekar

इस पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार का कहना है कि इमरजेंसी में देशभर में कितनी बड़ी संख्या में गिरफ्तारी की गई थी और लोगों के मौलिक अधिकारों को कैसे छीन लिया गया था, सभी ने देखा था। अगर आज राहुल गांधी इन सब चीजों के बारे में बोल रहे हैं तो सभी चीजों के बारे में सोचना चाहिए, बोलना चाहिए

इससे पहले केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी के बयान को हास्‍यास्‍पद बताया है कि इमरजेंसी यानी आपातकाल के समय इंस्टीट्यूशंस (सरकारी संस्‍थानों) को कमजोर नहीं किया गया। जावडेकर ने मंगलवार को मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि यह बयान हास्यास्पद है। इमरजेंसी के दौरान की सरकार ने सारे संगठनों को बिल्कुल कमजोर कर दिया था। एमपी, एमएलए को गिरफ्तार किया गया। करीब सभी पार्टियों पर पाबंदी लगाई गई थी। यही नहीं, अखबारों को भी बंद किया गया था। जावडेकर का कहना था कि राहुल गांधी को RSS को समझने में काफी समय लगेगा।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned