पीएम मोदी ने गुजरात में परियोजनाओं का किया उद्घाटन, बोले- सोमनाथ आश्वासन और विश्वास का प्रतीक

PM Modi ने सोमनाथ में कई परियोजनाओं किया उद्घाटन, कहा- सरदार साहब के प्रयासों को आगे बढ़ाने का मौका मिला।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ( PM Narendra Modi ) शुक्रवार को अपने गृह राज्य गुजरात ( Gujarat ) को कई सौगातें दीं। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से उन्होंने सोमनाथ ( Somnath ) में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन किया।

सोमनाथ समुद्र दर्शन पैदल पथ, सोमनाथ प्रदर्शनी केंद्र और नवीनीकृत अहिल्याबाई मंदिर की सौगात देशभर को दी। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा- सोमनाथ आश्वासन और विश्वास का प्रतीक है। कई बार सोमनाथ को नष्ट करने की कोशिश की गई, लेकिन हर बार सोमनाथ भव्यता के साथ खड़ा हुआ।

इन परियोजनाओं के पूरा होने पर आने वाली पीढ़ी को इतिहास से जुड़ने का मौका मिलेगा। हमारी आस्था को प्राचीन रूप में समझने का एक अवसर मिलेगा। युवाओं को अब रोजगार के कई अवसर मिलेंगे।

यह भी पढ़ेंः दिन में एक ही बार भोजन कर रहे हैं PM मोदी, जानिए क्या है वजह !

इस मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी भी और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी मौजूद थे। विजय रुपाणी ने स्वागत भाषण में योजनाओं की रूप रेखा रखी और पीएम मोदी को धन्यवाद दिया।

पीएम ने कहा- शिव अविनाशी है, अभिव्यक्त, अनादि हैं, पश्चिम में सोमनाथ और नागेश्वर से लेकर पूर्व में बैद्यनाथ तक उत्तर बाबा केदारनाथ से लेकर दक्षिण भारत के अंतिम छोर पर विराजमान रामेश्वर तक 12 ज्योतिर्लिंग पूरे भारत को पिरोने का काम करते हैं। हमारे शक्ति पीठों की संकल्पना, तीर्थों की स्थापना हमारी आस्था की ये रूपरेखा एक भारत, श्रेष्ठ भारत की अभिव्यक्ति है।

पीएम मोदी ने कहा- जब इसकी नींव पर समृद्ध भारत का भवन तैयार होगा, तब मेरा सपना पूरा होगा। हमारे प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद का ये सपना सभी के लिए प्रेरणा है।

पीएम मोदी ने कहा- लोह पुरुष के चरणों में नमन करता हूं। जिन्होंने भारत के प्राचीन गौरव को पुनर्जीवित करने की इच्छा शक्ति दिखाई। सरदार साहब सोमनाथ मंदिर को स्वतंत्र भारत की स्वतंत्र भावना से जुड़ा मानते थे।

आजादी के 75वें साल में हम सरदार साहब के प्रयासों को आगे बढ़ा रहे हैं। सोमनाथ मंदिर को नई भव्यता दे रहे हैं। अहिल्या बाई होलकर को भी प्रणाम करता हूं। जिन्होंने विश्वनाथ से सोमनाथ तक कितने ही मंदिरों का निर्माण कराया।

पर्यटन को बढ़ावा देने के निरंतर प्रयास
देश में तेजी से पर्यटन को बढ़ावा देने के प्रयास किए जा रहे हैं। अंतराष्ट्रीय रैंकिंग में 65 से 34 पर भारत पहुंच चुका है। टूरिज्म सेक्टर में कई फैसले पर्यटकों की रुचि को ध्यान में रखकर लिए गए हैं। एडवेंचर को लेकर उनके उत्साह का ध्यान रखा। 120 ट्रेकिंग मार्गों को खोला गया।

पर्यटकों को असुविधा ना हो इसके लिए गाइडों को ट्रेंड किया जा रहा है। पर्यटन को बढ़ावा देने से कोरोना काल से निकलने में भी मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी ने सोमनाथ मंदिर की परियोजनाओं के उद्घाटन पर सरदार वल्लभ भाई पटेल को किया याद, कही ये बात

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा- 2010 में जब मुख्यमंत्री के तौर पर मोदी सोमनाथ ट्रस्ट के साथ जुड़े तब इस क्षेत्र सर्वांगीण विकास के लिए बहुत सारे कार्य किए। जोन बनाकर इसका विकास किया गया। ट्रांसपोर्टेशन से जुड़ने के लिए रेलवे, बस आदि से इसका जुड़ाव किया गया। विकास की हर संभावनाओं पर काम किया गया।

देश के गिने चुने मंदिरों में से सोमनाथ मंदिर माना जाएगा। यात्रियों की सुविधा की दृष्टि से पीएम मोदी ने पहल की थी, जो अब आकार ले रही है। 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी ने देशभर के सभी तीर्थस्थानों को विकसित करने के लिए काम किया है।

pm modi
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned