PM Modi बोले - भारतीय आयुर्वेद पूरी मानवता की भलाई के लिए है

 

  • हमारे पूर्वजों ने आयुर्वेद से जुड़ी विरासत हमें दी।
  • डब्लूएचओ ने भारत को पारंपरिक औषधि के लिए चुना।

नई दिल्ली। शुक्रवार को आयुर्वेद दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जामनगर और जयपुर में एक-एक आयुर्वेद शिक्षण और शोध संस्थान का उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया। इस मौके पर उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आयुर्वेद से जुड़ी विरासत हमारे पूर्वजों ने हमें दी। इसलिए हमें आयुर्वेद के संरक्षण और संवर्धन की दिशा में प्रभावी कदम भी उठाने चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत को पारंपरिक औषधि के लिए चुना है। यह चुनाव हमारे के लिए एक अवसर है। यही वजह है कि भारत सरकार ने आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं।

आयुर्वेद ब्राजील की राष्ट्रीय नीति में शामिल

पीएम मोदी ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में देश का प्राचीन आयुर्वेद आज दुनिया के काम आ रहा है। आयुर्वेद भारत की अहम विरासत में शामिल है। आयुर्वेद पूरी मानता की भलाई के लिए है। इसे बढ़ावा देने के लिए देश में डेढ़ लाख हेल्थ और वेलनेस सेंटर तैयार हो चुके हैं। अब हमारा जोर आयुर्वेद को आधुनिक तरीके से विकसित करने पर है। ब्राजील ने आयुर्वेद की आम जीवन में अहमियत को देखते हुए इसे अपनी राष्ट्रीय नीति में शामिल कर लिया है।

pm modi
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned