अयोध्या के विकास कार्यों PM मोदी की समीक्षा बैठक खत्म, विजन डॉक्यूमेंट प्रजेंटेशन देखने के साथ मास्टर प्लान पर हुई चर्चा

पीएम मोदी ने वर्चुअल मीटिंग के जरिए लिया अयोध्या के विकास कार्यों का जायजा , सौंदर्यीकरण से लेकर, मास्टर प्लान तक कई अहम पहलुओं पर चर्चा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( pm modi ) शनिवार को अयोध्या ( Ayodhya ) के विकास कार्यों की समीक्षा की। कोरोना काल की वजह से इस बैठक को वर्चुअल ही आयोजित किया गया। बैठक में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath ) भी मौजूद रहे।

इस दौरान पीएम मोदी के सामने अयोध्या का विजन डॉक्यूमेंट प्रस्तुत किया गया। इसके में बताया गया कि किस तरह से अयोध्या का आगामी एक वर्ष में कायाकल्प किया जाएगा। अयोध्या के समग्र विकास को लेकर बैठक हुई. पीएम मोदी ने बैठक के दौरान मौजूद रहे सभी अधिकारियों और मंत्रियों से फीडबैक लिया। मोदी ने सुझाव दिया कि राम मंदिर बनने से पहले अयोध्या में सभी विकास कार्य पूरे कर लिए जाएं।

डिप्टी सीएम ने कही ये बात

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पीएम मोदी ने बैठक में मार्गदर्शन दिया। अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर के साथ-साथ विकास कार्यों को लेकर चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को लेकर पीएम ने व्यापक विजन दिया. मंदिर निर्माण को लेकर हाई लेवल बैठक फिर होगी।

बैठक में कई अधिकारी और अन्य नेता भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। पीएम मोदी समीक्षा बैठक में अयोध्या के विकास का विजन डॉक्यूमेंट देखा। साथ ही अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा की।

यह भी पढ़ेंः दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीन डिमांड को लेकर घिरी केजरीवाल सरकार, बीजेपी ने लगाया आरोप तो आम आदमी पार्टी ने दिया ये जवाब

विजन डॉक्यूमेंट किया पेश
वर्चुअल बैठक में अयोध्या को लेकर विजन डॉक्यूमेंट पेश किया गया। इसमें बताया गया कि अब तक कितने विकास कार्य पूरे हो चुके हैं और किन कार्यों पर भविष्य में काम होने जा रहा है।

अयोध्या को लेकर हमेशा से भारत सरकार की अलग विचारधारा रही है। राम की नगरी का भव्य विकास हो, इस पर लगातार जोर दिया गया है।

दरअसल प्रधानमंत्री की इस बैठक से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कई मौकों पर अयोध्या को लेकर समीक्षा बैठक की हैं। कोशिश है कि कम समय में अयोध्या का संपूर्ण विकास किया जा सके।

इन मुद्दों पर चर्चा संभव
बैठक के दौरान अयोध्या के सौंदर्यीकरण पर विस्तार से बात होने जा रही है। वहीं अयोध्या में बनने जा रही भगवान राम की प्रतिमा को लेकर भी चर्चा संभव है।

कई ऐसी परियोजनाएं हैं जिनके जरिए अयोध्या को हेरिटेज सिटी बनाने पर जोर रहा है। ऐसे में विजन प्रेजेंटेशन के दौरान उस पहलू पर बातचीत होने की उम्मीद है।

चुनाव के लिहाज से भी अयोध्या काफी अहम है, यहां का मतदाता चुनावी परिणाम बदलने का दम रखता है, ऐसे में उनके विकास को केंद्र में रखने की पूरी कोशिश जारी है।

पीएम के अलावा 13 सदस्य लेंगे हिस्सा
पीएम मोदी के अलावा वर्चुअल बैठक में 13 अन्य सदस्य शामिल होंगे। सीएम योगी लखनऊ अपने आवास से वर्चुअल माध्यम से जुड़ेंगे। इसके अलावा दोनों डिप्टी सीएम केशव मौर्य और दिनेश शर्मा, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी, सिंचाई मंत्री महेंद्र सिंह, अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह, चीफ सेक्रेटरी के अलावा प्रमुख सचिव पर्यटन, अपर मुख्य सचिव नगर विकास समेत अन्य विभागों के प्रमुख सचिव मौजूद रहेंगे। बैठख में प्रमुख सचिव आवास विकास प्रेजेंटेशन देंगे।

नृपेंद्र मिश्रा ने पीएम को सौंपी रिपोर्ट
श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र ने बीते दिनों अयोध्या के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने अयोध्या के विकास कार्यों और मंदिर निर्माण की प्रगति को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की थी। बताया जा रहा है कि उन्होंने ये रिपोर्ट पीएम मोदी को सौंपी है। इस रिपोर्ट पर भी चर्चा संभव है।

यह भी पढ़ेंः IT मंत्री रविशंकर प्रसाद और शशि थरूर का ट्विटर अकाउंट ब्लॉक, कांग्रेस ने कहा- मांगा जाएगा जवाब

400 करोड़ की लागत से बनेगा बस स्टैंड
सीएम योगी ने हाल में कैबिनेट मीटिंग में आठ प्रस्तावों पर मुहर लगाई। इनमें अयोध्या में 400 करोड़ की लागत से बस स्टैंड के निर्माण कार्य को मंजूरी मिली थी। अयोध्या में PPP मोड पर 400 करोड़ की लागत से बस स्टैंड का निर्माण कराया जाएगा।

1.5 किमी का फ्लाइओवर बनेगा
यही नहीं इंटर स्टेट टर्मिनल वाले इस बस स्टैंड पर लोगों को जाम से बचाने के लिए एक करीब डेढ़ किलोमीटर का फ्लाईओवर भी बनेगा। अयोध्या में सुल्तानपुर मार्ग नए एयरपोर्ट को जोड़ता है।

इस पर ट्रैफिक जाम से बचने के लिए यहां फोर लेन फ्लाईओवर को भी मंजूरी मिली है। यहां पर बनने वाले बस अड्डे के लिए जमीन की अड़चन दूर करने के लिए संस्कृति विभाग अपनी नौ एकड़ जमीन परिवहन विभाग को देगा।

pm modi Ram Mandir
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned