राजनाथ सिंह का बड़ा बयान - पैंगोंग लेक से सेना की वापसी पर भारत-चीन के बीच समझौता, हमने कुछ नहीं खोया

  • एलएसी पर एक साल पहले की स्थिति बहाल होगी।
  • भारत और चीन विवादित क्षेत्र से सेना को हटाने पर सहमत।
  • चीन की सेना पीछे हटने को तैयार।
  • सभी समझौते का पालन करना जरूरी।

 

नई दिल्ली। भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को राज्यसभा में बताया कि पैंगोंग लेक पर सैनिकों की वापसी को लेरक भारत के बीच समझौत हो गया हैं। दोनों देश एक साल पहले की स्थिति बहाल करने पर सहमत हुए हैं। दोनों देशों ने समझौतों के प्रावधानों का पालन करने के प्रति प्रतिबद्धता जताई है। उन्होंने कहा कि इस समझौते में भारत ने कुछ भी नहीं खोया है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज राज्यसभा में भारत-चीन के बीच जारी सीमा विवाद पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर शांतिपूर्ण स्थिति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भारत ने हमेशा द्विपक्षीय संबंधों को बनाए रखने पर जोर दिया है। फिंगर नंबर तीन से आठ तक नो पेट्रोलिंग जोन होगा।

चीन के साथ हमारी निरंतर वार्ता से पैंगोंग झील के उत्तर और दक्षिण तट पर डिसइंगेजमेंट को लेकर समझौता हुआ है। इस समझौते के बाद भारत-चीन चरणबद्ध तरीके से सेना की तैनाती को हटाएंगे।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned