उत्तरखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का इस्तीफा, कहा- पार्टी ने मुझे 4 साल सेवा करने का मौका दिया

Highlights

  • सीएम रावत ने कहा, मेरी पार्टी ने मुझे स्वर्णिम अवसर दिया।
  • कहा, सामूहिक रुप से यह निर्णय लिया कि मुझे अब किसी और को यह मौका देना चाहिए।

नई दिल्ली। उत्तरखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने मंगलवार को दोपहर बाद 4 बजे राज्यपाल बेबी रानी मौर्या से मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंपा।

इसके बाद एक प्रेसवार्ता के दौरान रावत ने कहा कि मैंने अपना त्यागपत्र राज्यपाल को सौंप दिया है। भाजपा में जो भी फैसले होते हैं, वो सामूहिक विचार के बाद होते हैं। इस फैसले के बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा,'वे लंबे समय से राजनीति कर रहे हैं। संघ से लेकर भाजपा को दिया मैंने प्रचार किया। मुझे मुख्यमंत्री के तौर पर 4 साल काम करने का मौका मिला। मेरी पार्टी ने मुझे स्वर्णिम अवसर दिया। 7-8 परिवार वाले एक छोटे से गांव में मैं पैदा हुआ।'

दिल्ली बजट: 2048 ओलंपिक खेल की मेजबानी का लक्ष्य, सिंगापुर के लोगों की जितनी आय

किसी और को मौका देना चाहिएः रावत

उन्होंने कहा, 'मेरे पिता एक पूर्व सैनिक थे. भाजपा में ही यह संभव था कि एक छोटे से गांव के अति साधारण परिवार के एक पार्टी के कार्यकर्ता को इतना बड़ा सम्मान दिया। 4 साल मुझे सेवा करने का मौका दिया। सामूहिक रुप से यह निर्णय लिया कि मुझे अब किसी और को यह मौका देना चाहिए।' उन्होंने कहा कि चार साल (बीजेपी शासनकाल) पूरा होने में 9 दिन रह गए हैं। मैं प्रदेश वासियों का धन्यवाद करना चाहता हूं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned