दिल्ली बजट: 2048 ओलंपिक खेल की मेजबानी का लक्ष्य, सिंगापुर के लोगों की जितनी आय

Highlights

  • 2048 में देश आजादी की सौवीं वर्षगांठ मनाएगा, 39 वे ओलंपिक का लक्ष्य रखा।
  • 10 खेल क्षेत्रों में अंतराष्ट्रीय मेडल विजेता तैयार करने का लक्ष्य होगा।

नई दिल्ली। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश किया है। उन्होंने कहा कि बजट (दिल्ली बजट) में एक दृष्टिकोण प्रदान किया गया है कि 2048 ओलंपिक खेल दिल्ली में होने चाहिए।

2048 ओलंपिक के लिए दिल्ली बोली लगाएगी, हम इसके लिए जो भी बुनियादी ढांचा और अन्य जरूरी चीजें जुटाएंगे, उन्हें लेने की जरूरत है। दिल्ली सरकार ने आजादी की सौवीं वर्षगांठ 2048 में मनाएंगी। ऐसे में सरकार 39वें ओलंपिक खेल की मेजबानी करने का लक्ष्य बनाया है। कम से कम 10 खेल क्षेत्रों में अंतराष्ट्रीय मेडल विजेता तैयार करने का लक्ष्य होगा।

त्रिवेंद्र सिंह रावत आज दे सकते हैं सीएम पद से इस्तीफा, इस नेता को मिल सकती है उत्तराखंड की कमान

दिल्ली सरकार ने वर्ष 2047 तक दिल्लीवासियों की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर के लोगों के बराबर करने का लक्ष्य रखा है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पेश कर कहा कि वर्ष 2047 तक दिल्ली की आबादी 3 करोड़ हो जाएगी। करीब 69 हजार करोड़ रुपये का बजट पेश करते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली का बकाया ऋण घटकर स्टेट जीडीपी के 3.74% तक रह गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार का बजट सरप्लस हो सकता है। इसे सीएजी ने भी स्वीकार किया है।

दिल्ली सरकार ने करीब 69 हजार करोड़ रुपये के बजट में शिक्षा पर 16,377 करोड़ रुपये, हेल्थकेयर पर 9,934 करोड़ रुपये, इन्फ्रास्ट्रक्चर पर 9,394 करोड़ रुपये, झुग्गीवासियों के आवास पर 5,328 करोड़ रुपये, अनाध‍िकृत कॉलोनियों के लिए 1,550 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned