COVID-19 संकट पर महाराष्ट्र CM उद्धव और शरद पवार की बैठक, केन्द्र से लोकल ट्रेनों को शुरू करने की मांग

  • Coronavirus को लेकर देश में Lockdown
  • महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray ) और NCP प्रमुख शरद पवार ( Sharad Pawar ) ने लोकल ट्रेन दोबार शुरू करने की मांग की
  • शरद पवार ने चरणबद्ध तरीके से ट्रांसपोर्ट को शुरू करने पर दिया जोर

नई दिल्ली। पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस ( coronavirus ) की चपेट में है। इस महामारी के कारण 25 मार्च से देश में लॉकडाउन ( Lockdown ) लागू है। लॉकडाउन के कारण एक ओर जहां पूरी अर्थव्यवस्था ( Economy ) चरमराई हुई है। वहीं, दूसरी ओर कई सारी चीजों पर पाबंदियां भी जारी है। महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में COVID-19 को लेकर सबसे ज्यादा स्थिति खराब है। इसी कड़ी में कोरोना संकट को लेकर महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray ) और NCP प्रमुख शरद पवार ( Sharad Pawar) के बीच बैठक हुई। दोनों नेताओं ने केन्द्र से महाराष्ट्र में जरूरी सेवाओं के लिए लोकल ट्रेन ( Local Trains ) फिर से शुरू करने की मांग की।

COVID-19 संकट को लेकर बैठक

जानकारी के मुताबिक, COVID-19 संकट को लेकर इस बैठक में जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ( Jayant Patil ), मुख्य सचिव अजय मेहता ( Ajay mehta), शिवसेना नेता संजय राउत ( Sanjay Raut ) भी मौजूद थे। बताया जा रहा है कि यह बैठक राज्यपाल से मुलाकात के बात हुई थी। इस बैठक में कोरोना संकट को लेकर चर्चाएं की गई है। शरद पवार ने कहा कि उद्धव ठाकरे ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को जरूरी सेवाओं के लिए लोकल ट्रेन चलाने की मांगी की है। हालांकि, केन्द्र की ओर से अब तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं की है।

शरद पवार ने ट्रांसपोर्ट को चरणबद्ध तरीके से शुरू करने पर दिया जोर

रिपोर्ट में बताया गया है कि NCP प्रमुख राज्य में चरणबद्ध तरीके से परिवहन सेवा शुरू करने पर जोर दे रहे हैं। साथ अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उद्योगपतियों और विशेषज्ञों से चर्चाएं करने के लिए कह रहे हैं। क्योंकि, कोरोना वायरस के कारण राज्य की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बिगड़ गई है। साथ ही यहां इस महामारी का तांडव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में 47190 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 1577 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 13404 लोग ठीक भी हो चुके हैं। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मुंबई और पुणे में स्थिति खराब है। वहीं, लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों को राज्य से उन्हें अपने गृह राज्य भेजने का सिलसिला लगातार जारी है।

COVID-19 coronavirus
Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned