उद्धव सरकार का बड़ा फैसला, वैक्सीन की दोनों डोज लिए बिना महाराष्ट्र में नहीं मिलेगी एंट्री

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए स्पष्ट किया है कि कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लिए बिना राज्य में एंट्री नहीं मिलेगी। साथ ही यदि किसी के पास RT-PCR टेस्ट रिपोर्ट नहीं है तो उसे 14 दिन तक क्वारंटाइन रहना पड़ेगा।

मुंबई। कोरोना महामारी के खिलाफ लडा़ई के लिए तेजी के साथ टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाया जा रहा है। लेकिन कोविड के तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर एक बार फिर से चिंताएं बढ़ गई है। लिहाजा, हर राज्य और केंद्र सरकार अपने-अपने स्तर पर तैयारियां कर रही है।

इस बीच महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। महाराष्ट्र सरकार ने स्पष्ट किया है कि कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लिए बिना राज्य में एंट्री नहीं मिलेगी। साथ ही यदि आपके पास RTPCR टेस्ट रिपोर्ट नहीं है तो 14 दिन तक क्वारंटाइन रहना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें :- केजरीवाल सरकार ने RT-PCR Test के दाम घटाए, अब देने होंगे 300-700 रुपये

उद्धव सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि दूसरे राज्यों से महाराष्ट्र आने वाले लोगों के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लगवाना जरूरी रहेगा। साथ ही उन्हें बतौर सबूत वैक्सीन सर्टिफिकेट भी दिखाना होगा। यदि किसी ने वैक्सीन नहीं ली है तो उसे निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा। अगर किसी ने वैक्सीन की दोनों डोज भी नहीं लगाई है और उनके पास RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट भी नहीं है तो उसे महाराष्ट्र में 14 दिन के लिए क्वारंटीन होना पड़ेगा।

क्या है उद्धव सरकार का नया आदेश

आपको बता दें कि उद्धव सरकार की ओर से जारी नए आदेश में कहा गया है कि दूसरे राज्यों से महाराष्ट्र आने वाले लोगों को पहले दोनों डोज लगाने के वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाना जरूरी होगा। इसके अलावा दूसरा डोज लगे हुए 14 दिन होना अनिवार्य है। यदि किसी के पास वैक्सीन सर्टिफिकेट नहीं है और बाकी मापदंडों पर खरा नहीं उतरता है तो उन्हें कोरोना की निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट दिखानी होगी। RT-PCR रिपोर्ट 72 घंटे पुरानी होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें :- कोरोना वायरस का पता लगाने में नई RT-PCR किट 97.3% प्रभावी, जानिए इससे जुड़ी बड़ी बातें

बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने यह सख्त फैसला कोरोना के संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर लिया है। ताकि दूसरी लहर में जिस तरह से तबाही हुई थी वैसा नजारा फिर से न देखने को मिले।

डेल्टा प्लस के मामलों ने बढ़ाई चिंता

मालूम हो कि महाराष्ट्र में लगातार डेल्टा प्लस वेरिएंट का मामला बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में डेल्टा प्लस वेरिएंट से पांच लोगों के मौत की पुष्टि भी कर दी है। ऐसे में सरकार की चिंता बढ़ गई है। लिहाजा, इसको लेकर एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैें और इस वेरिएंट को लेकर रिसर्च भी जारी है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned