तेलंगाना सरकार ने की वेतन में 30 फीसदी की वृद्धि, रिटायरमेंट की उम्र 3 साल बढ़ाई

तेलंगाना सरकार ने होली से पहले 9.37 लाख कर्मचारियों की भर दी झोली।
12 माह का एरियर सेवानिवृत्ति के समय मिलेगा, यह अप्रैल 2020 से ही लागू होगा।

हैदराबाद । तेलंगाना सरकार ने राज्य के 9.37 लाख कर्मचारियों की होली से पहले झोली भर दी है। कर्मचारियों के वेतन में 30 प्रतिशत की वृद्धि का फैसला किया है। यह अप्रेल 2020 से ही लागू होगा। 12 माह का एरियर सेवानिवृत्ति के समय मिलेगा। सेवानिवृत्ति की उम्र को 3 साल बढ़ाकर 58 से 61 कर ही गई है। सीएम चंद्रशेखर राव ने विधानसभा में घोषणा की।

ग्रैच्युटी फंड भी बढ़ाया : सेवानिवृत्ति पर मिलने वाले ग्रैच्युटी की धनराधि को 12 लाख से 16 लाख कर दिया है। मुख्यमंत्री राव ने कहा कि वेतन वृद्धि सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए समान रूप से लागू होगी क्यों न वह दिहाड़ी मजदूर ही हो।

दो राज्यों में सेवानिवृत्ति 56 वर्ष में : झारखंड, केरल में राज्य कर्मियों की सेवानिवृत्ति 56 साल में तय है। हरियाणा में तकनीकी कर्मियों की सेवानिवृत्ति आयु 60 जबकि डॉक्टरों की 62 साल है। तेलंगाना, तमिलनाडु, गोवा, अरुणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, जम्मू कश्मीर, मिजोरम, मणिपुर, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उड़ीसा में 58 साल है।

7 साल बाद हुई वेतन वृद्धि -
यह फैसला मई 2018 में सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारी सी आर बिस्वाल की अध्यक्षता में बनाए आयोग के सुझावों के आधार पर लिया गया। साल 2014 में राज्य में सरकारी कर्मचारियों की वेतन में 43 फीसदी वृद्धि हुई थी।

कई राज्यों में अलग-अलग है उम्र-
प.बंगाल में मेडिकल टीचर के लिए 65 साल, डॉक्टर की 62 साल और दूसरे पदों के लिए 60 साल की सेवानिवृत्ति आयु तय है। राजस्थान, छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश, त्रिपुरा, यूपी, कर्नाटक, असम, बिहार, मेघालय, नगालैंड, गुजरात, उत्तराखंड और सिक्किम में सेवानिवृत्ति की उम्र 60 साल है जबकि एमपी में 62 साल है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned