जम्मूः आर्मी कैंप पर हुए हमले में 2 जवान शहीद, रोहिंग्या मुसलमानों के चलते आतंकी हमला-स्पीकर

जम्मूः आर्मी कैंप पर हुए हमले में 2 जवान शहीद, रोहिंग्या मुसलमानों के चलते आतंकी हमला-स्पीकर

Mohit sharma | Publish: Feb, 10 2018 08:37:36 AM (IST) | Updated: Feb, 10 2018 07:45:30 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

जिसके बाद जवानों ने पूरे इलाके के घेराबंदी कर सर्च आॅपरेशन शुरू कर दिया। हमले में एक जवान के शहीद होने की जानकारी मिली है।

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले में 2 जवान शहीद हो गए हैं। जबकि 7 लोगों के घायल होने की खबर आ रही है। इनमें सेना के एक मेजर, दो जेसीओ, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन को सुंजुवां में चल रहे ऑपरेशन पूरी जानकारी दी है। इस आतंकी घटना को लेकर गृह मंत्रालय भी सक्रिय हो गया है। आतंकियों की संख्या का अभी ठीक पता नहीं चल पाया है, सैन्य अभियान अभी जारी है। बता दें कि जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने भी ट्वीट कर हमले की निंदा की है। हमले के मद्देनजर पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। आॅपरेशन के दौरान हेलिकॉप्टर से नजर रखी जा रही है। कैंप के नजदीक 500 मीटर के दायरे में सारे स्कूल बंद कर दिए गए हैं। कैंप पर हमला करने वाले आतंकी जैश ए मोहम्मद के बताए जा रहे हैं।

विधानसभा स्पीकर कविंदर गुप्ता ने आर्मी कैंप पर हमले की वजह रोहिंग्या मुसलमानों की मौजूदगी को बताया। उन्होंने कहा कि रोहिंग्या मुसलमानों के चलते जम्मू के भारतीय सेना के कैंप पर आतंकी हमले हुए।हालांकि विधानसभा अध्यक्ष के बयान पर विपक्ष ने हंगामा खड़ा कर दिया और सदन का वाकआउट कर दिया । हालांकि बाद में रोहिंग्या मुसलमानों से जुड़े बयान को रिकॉर्ड से हटा दिया गया।

सुबह 4:55 बजे की घटना

घटना शनिवार सुबह 4:55 बजे के आसपास की है। आतंकियों ने यहां अंधेरे को ढाल बनाते हुए आर्मी कैंप पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि यह आतंकी हमला आर्मी के फैमिली क्वॉर्टर्स पर किया गया है। यह हमला सुनजान आर्मी कैंप पर किया गया। आतंकियों ने सुबह 4:55 बजे अंधेरे का फायदा उठाते हुए सेना के कैंप पर फायरिंग शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक यह हमले में कैंप के फैमिली क्वॉर्टर्स को निशाना बनाया गया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के पुलिस महानिदेशक से बात की है। गृहमंत्रालय ने ट्वीट कर इस बात की पुष्टि की है।

ऐसे किया हमला

घटना के बारे में जानकारी देते हुए जम्मू के आईजीपी एसडी सिंह जमवाल ने बताया कि जिस आर्मी कैंप पर हमला हुआ उसमे संतरी ने कुछ संदिग्ध गतिविधियों को भांपा था। आतंकी एक फैमिली क्वॉर्टर में जा घुसे और गोलीबारी शुरू कर दी। इस गोलीबारी में एक हवलदार और उसकी बेटी के घायल होने की खबर है। संतरी के बंकर से आ रही गोलियों की आवाजों के बाद जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी गई। हालांकि अभी तक आतंकियों की संख्या के बारे में पुख्ता जानकारी हाथ नहीं आ पाई है।

जम्मू-कश्मीर का दौरा

रक्षा सचिव संजय मित्रा और उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट शरत चंद ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर का दौरा कर वहां सीमाओं व आंतरिक इलाकों में सुरक्षा का जायजा लिया। दोनों ने बदामी बाग छावनी का दौरा किया जहां चिनार कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ए. के. भट ने उन्हें सुरक्षा को लेकर जानकारी दी। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, रक्षा सचिव ने नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों का भी दौरा किया है और भीतरी इलाकों की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। मित्रा को इलाके में शांति व्यवस्था कायम करने में सभी सरकारी एजेंसियों के बीच समन्वय की भी जानकारी दी गई। इस बीच, उप सेना प्रमुख ने भी मौजूदा सुरक्षा की स्थिति का जायजा लिया।रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को लोकसभा में एक लिखित जवाब में इस साल 29 जनवरी तक भारत-पाक सीमा पर कुल 192 बार युद्ध विराम का उल्लंघन होने की जानकारी दी थी।वहीं, 2017 में 860 बार युद्ध विराम का उल्लंघन हुआ था। वर्ष 2016 में 228 बार और 2015 में 152 बार युद्ध विराम का उल्लंघन हुआ था।

Ad Block is Banned