कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की प्रक्रिया हुई तेज, जल्द हो सकता है ऐलान

Highlights

  • पार्टी में पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग तेज हो चुकी है।
  • पार्टी के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री की अध्यक्षता में सीईए की बैठक हुई।

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद से पार्टी में घमासान मचा हुआ है। पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव कराने में जुट गई है। इसके लिए दिसंबर में चुनाव कार्यक्रम का ऐलान हो सकता है। इस पर मुहर लगाने के लिए जल्द कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक होने की उम्मीद है। पार्टी में पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग तेज हो चुकी है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री की अध्यक्षता में मंगलवार को केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (सीईए) की बैठक हुई। समिति के एक सदस्य के अनुसार, बैठक में विभिन्न प्रदेश कांग्रेस कमेटियों की तरफ से भेजी गई एआईसीसी के सदस्यों की सूची पर विचार हुआ। कई राज्यों में इस सूची को भेजने की तैयारी चल रही है।

कांग्रेस नेता Ahmed Patel का 71 की उम्र में कोरोना वायरस से निधन, पीएम मोदी और राहुल गांधी ने जताया शोक

सीईए की एक सप्ताह बाद दोबारा बैठक होने की उम्मीद जताई गई है। कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव उस वक्त पर हो रहा है, जब पार्टी के अंदर नेतृत्व को को लेकर खुद पार्टी के नेता ही सवाल उठा चुके हैं। उनका कहना है कि शीर्ष नेतृत्व का निचले स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ कोई नाता नहीं रहा है।

बिहार चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद कई नेता सवाल उठा रहे हैं कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को असंतुष्ट नेताओं की तरफ से कुछ माह पहले एक पत्र मिला था।पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव कराने की मांग की गई थी। इसके बाद समिति का गठन किया गया था।

कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) में 23 सदस्य होते हैं, 12 निर्वाचित सदस्य होते हैं और 11 कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा मनोनीत किए जाते हैं। निर्वाचित सदस्यों में से सामन्य वर्ग से छह, चार महिलाएं और दो सीटें SC/ST और OBC समुदाय के लिए आरक्षित हैं।

यह हैं पहले गैर-कांग्रेसी सीएम, 26 साल की उम्र में रखा था राजनीति में कदम

पार्टी के संविधान के अनुसार, उम्मीदवार को चुनाव लड़ने के लिए कम से कम AICC के 10 सदस्यों के प्रस्ताव की जरूरत होती है। एआईसीसी में कुल 1500 सदस्य हैं। यही कांग्रेस अध्यक्ष और सीडब्ल्यूसी सदस्यों काे चुनाव के लिए वोटिंग करते हैं। कोरोना वायरस को लेकर मतदाताओं के लिए डिजिटल पहचान पत्र के लिए एक प्रस्ताव भेजा है। मगर चुनाव बैलेट पेपर के जरिए ही किया जाएगा।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned