Delhi-NCR में जरूरतमंदों को आसानी से मिलेगा खून, Indian Red Cross और MoHFW का ऐप लॉन्च

  • डॉ. हर्षवर्धन ( Dr. Harsh Vardhan ) बोले कि अब दिल्ली-एनसीआर में खून की जरूरत पड़ने पर नहीं होगी परेशानी।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ( Union Health Ministry ) और भारतीय रेड क्रॉस ( Indian Red Cross Society ) का ऐप ( eBloodServices App ) हुआ लॉन्च।
  • भविष्य में अन्य शहरों में ब्लड बैंकों ( blood bank ) को इस ऐप ( blood donation app ) जोड़ने की योजना।

नई दिल्ली। जरूरतमंदों तक वक्त पर खून की आसान पहुंच के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ( Union Health Ministry ) ने गुरुवार को इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी ( Indian Red Cross Society ) के साथ मिलकर एक ऐप ( eBloodServices App ) लॉन्च किया।

दिल्ली में अस्पतालों के रवैये पर हाईकोर्ट का बिगड़ा मूड, कहा- कड़ी कार्रवाई करे सरकार

इस लॉन्चिंग के मौके पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ( Dr. Harsh Vardhan ) ने कहा, "यह आपके दरवाजे पर खून के लिए अनुरोध करने जैसा है। मुझे पिछले कुछ महीनों में लोगों से सुरक्षित रक्त की पहुंच में कमी के बारे में कई शिकायतें मिलीं, विशेषकर उन लोगों से जिन्हें खून की पुरानी बीमारी के चलते नियमित रूप से रक्त दान की आवश्यकता होती है। यह ऐप ( blood donation app ) इस करोना काल में काफी फायदेमंद होगा जब लोगों के लिए आना-जाना एक समस्या बन गई है और जिन लोगों को रक्त की जरूरत है वे एक ब्लड बैंक से दूसरे में नहीं जा सकते हैं।"

उन्होंने कहा, "यह ऐप रक्तदान कार्यक्रम में पारदर्शिता लाएगा और रक्त की सख्त जरूरत वाले लोगों की चिंताओं को कम करेगा। हमारे स्वैच्छिक रक्तदाताओं को बड़ी संख्या में आगे आना चाहिए क्योंकि उनके योगदान की आवश्यकता पहले से कहीं अधिक है।"

शुरुआत में यह ऐप पूरे दिल्ली-एनसीआर को कवर करेगा। इस ऐप के जरिये एक बार में चार यूनिट तक ऑर्डर देने की सुविधा होगी। भविष्य में और अधिक शहरों में और ज्यादा ब्लड बैंकों ( blood bank ) को जोड़ने की योजना के साथ ही इस ऐप के दायरे का विस्तार किया जाएगा। हर्षवर्धन ने कहा, "यह एक उपयोगी ऐप है और धीरे-धीरे इसकी पहुंच का विस्तार करने की योजना है।"

इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के महासचिव आरके जैन ने कहा, "इस एप्लिकेशन के माध्यम से रक्त की उपलब्धता आपके फोन में ही दिखाई देगी। जब एक बार एक आर्डर दे दिया गया तो ब्लड बैंक 12 घंटे के लिए रिक्वेस्ट को सक्रिय रखेगा। अगर पहले ऑर्डर देने वाला व्यक्ति 12 घंटे के भीतर इसे एकत्र करने में विफल रहता है तो उसके बाद ही अगले रोगी को यह जारी कर दिया जाएगा।"

भारत-चीन सीमा के इस इलाके में आज तक नहीं हुआ कोई संघर्ष, एक बार इलाका देख लिया तो फिर..

जैन ने कहा कि शुरुआती कुछ सप्ताह ऐप के ठीक ढंग से काम करने के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकते हैं। जैन ने कहा, "हम शुरुआत में कम से कम 15 दिनों से लेकर लगभग एक महीने तक कुछ कमियों का सामना करने की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि हमें इस क्षेत्र में रक्त की सही मांग नहीं पता है। हमें यह जानने में कुछ समय लगेगा कि रक्त की कितनी जरूरत है और उसके अनुसार कार्य करें।"

शहर में रक्त की मांग को पूरा करने के लिए रेड क्रॉस ब्लड बैंक ने दिल्ली और उसके आसपास के विभिन्न इलाकों में मोबाइल ब्लड कलेक्शन यूनिट्स भेजकर रक्तदान शिविर का आयोजन शुरू चुकी है। वहीं, स्वैच्छिक रक्तदाताओं को रेड क्रॉस ब्लड बैंक पिक एंड ड्रॉप की सुविधा भी दे रहा था। जैन ने कहा, "हमने सुनिश्चित किया है कि रक्त की कोई कमी ना हो और जो भी मांग आती है हम उसे मैनेज कर सकें।"

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned