उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू बोले - केवल जय हिंद कहना या जन गण मन गाना ही नहीं है ‘राष्ट्रवाद’

  • जय हिंद का मतलब हर भारतीय की जय।
  • देश में रहने वाले सभी का कल्याण राष्ट्रवाद।

नई दिल्ली। शनिवार को कोलाकाता में नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती के अवसर पर जय श्रीराम का नारा लगाने को लेकर उत्पन्न विवादों के बीच देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद का मतलब केवल जय हिंद कहना या जन गण मन या वंदे मातरम गाना ही नहीं हो सकता।

जय हिंद का मतलब हर भारतीय की जय हो है। यह तभी संभव है जब देश के अंदर रहने वाले सभी समुदायों व वर्गों की जरूरतों का ध्यान रखा जाए।

वेंकैया नायडू ने इस बात का जिक्र किया कि राष्ट्र का मतलब भौगोलिक सीमा नहीं है। राष्ट्र में सब कुछ है। सभी का कल्याण राष्ट्रवाद है। हमारी एक शानदार सभ्यता है जो एक-दूसरे की देखभाल करने और समस्याओं को साझा करने का प्रतीक है। हमारे पूर्वजों ने हमें सीख दी है कि पूरा विश्व एक परिवार है। उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने युवाओं से नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन से प्रेरणा लेने की अपील की है।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned