ममता बनर्जी ने पीएम मोदी सहित अन्य भाजपा नेताओं को आम भेजे

ममता बनर्जी ने ऐसे समय में पीएम मोदी सहित अन्य भाजपा नेताओं को आम भेजे हैं जबकि दोनों पार्टियों के बीच तल्खी अपनी चरम सीमा पर है।

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दौरान और चुनाव नतीजों की घोषणा के बाद राज्य में भाजपा तथा तृणमूल कांग्रेस के बीच बढ़ते टकराव के मध्य मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केन्द्र सरकार के साथ संबंध सुधारने की शुरूआत कर दी है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को आम भेज कर इस दिशा में पहला कदम उठाया है।

यह भी पढ़ें : चीफ जस्टिस एनवी रमना की नसीहत, सोशल मीडिया से प्रभावित ना हो जजों की राय

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने इसी सप्ताह प्रधानमंत्री को राज्य के आमों की खेप भेजी है, इन आमों में लक्ष्मणभोग, मालदा तथा हिमसागर आम भेजे गए हैं। पीएम मोदी के साथ ही देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी उन्होंने आम की पेटियां भेजी हैं।

यह भी पढ़ें : LPG गैस सिलेंडर की कीमतों में 25.50 रुपए की बढ़ोतरी, नई कीमत आज से लागू

उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी ने ऐसे समय में पीएम मोदी सहित अन्य भाजपा नेताओं को आम भेजे हैं जबकि दोनों पार्टियों के बीच तल्खी अपनी चरम सीमा पर है। हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान तथा बाद में तृणमूल कांग्रेस पर भाजपा सहित अन्य विपक्षी पार्टियों ने हिंसा के आरोप लगाए थे। भाजपा व अन्य पार्टियों के नेताओं ने टीएमसी पर महिलाओं से बलात्कार करने तथा अपने कार्यकर्ताओं की हत्या करने का आरोप लगाया था। इस संबंध में स्थानीय पुलिस पर भी ममता सरकार का साथ देने के आरोप लगाए गए थे जिनका पुलिस तथा स्थानीय प्रशासन ने खंडन भी किया था।

वर्ष 2014 से हैं भाजपा-तृणमूल कांग्रेस में मतभेद
आपको बता दें कि ममता बनर्जी अपनी पार्टी के साथ एनडीए का हिस्सा थी परन्तु वर्ष 2014 में नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद वह धर्मनिरपेक्षता के नाम पर गठबंधन से अलग हो गई थी। तभी से उनके और भाजपा के बीच संबंधों में उतार-चढ़ाव का दौर बना हुआ है। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में भी ममता बनर्जी ने भाजपा के विरुद्ध सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने की कवायद की थी परन्तु वो कामयाब नहीं हो पाई थी।

BJP
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned